धूमधाम से मनाया गया 18वां राज्य स्थापना दिवस

0
1

देहरादून। उत्तराखण्ड आज अपना 18वां स्थापना दिवस मना रहा है। इस अवसर पर राजधानी दून की पुलिस लाइन में एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की मौजूदगी में इस अवसर पर आयोजित रैतिक परेड की सलामी राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने ली।
राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने अपने सम्बोधन में राज्यवासियों को बधाई देते हुए कहा कि देवभूमि उत्तराखण्ड अपनी अदभुत देव संस्कृति के कारण विश्वभर में अपनी अलग पहचान रखता है। उन्होने उत्तराखण्ड राज्य के नैसर्गिक प्राकृतिक सौंदर्य की प्रश्ंासा करते हुए कहा कि अलग राज्य बनने के बाद राज्य निरंतर प्रगति की पथ पर अग्रसर है उन्होने कहा कि आने वाले समय में उत्तराखण्ड एक आध्यात्मिक पर्यटन का केन्द्र बनेगा। राज्य पाल ने इस अवसर पर उत्कृष्ठ कार्य करने वाले पुलिस कर्मियों को पुरस्कृत भी किया।
इस अवसर पर त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि अपने 18 साल के जीवन काल में राज्य ने अनेक क्षेत्रों में विकास किया व इतिहास लिखा है। उन्होने कहा कि वह मानते है कि अभी बहुत कुछ किया जाना शेष है। उनकी सरकार द्वारा अल्पकाल में अनेक ऐसे नीतिगत निर्णय लिये गये है जिनका अच्छा परिणाम आने वाले दिनों में देखने को मिलेगा। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि राज्य गठन के बाद कुछ क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य हुआ है जबकि कुछ क्षेत्रों में अपेक्षित कार्य नहीं हो सका है। लेकिन निराशा जैसी कोई बात नहीं है। सभी की अपेक्षा पूरी होगी। इस अवसर पर पुलिस कर्मियों द्वारा भव्य परेड का आयोजन किया गया। इस दौरान पुलिस कर्मियों ने कई हैरत अंगेज प्रदर्शन किये। राज्य आपदा प्रबन्धन टीम ने अपने कार्य का डेमोस्ट्रिेशन भी प्रदशर््िात किया गया। इस अवसर पर डीजीपी अनिल के रतूड़ी के अलावा अन्य तमाम पुलिस अधिकारी भी मौजूद रहे। इस अवसर पर सांसद व पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमेश पोखरियाल निशंक, कबीना मंत्री सतपाल महाराज, धन सिंह रावत सहित अनेक लोग उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY