नशीले पदार्थो की खपत दून में सबसे ज्यादा!

0
1

अपराध संवाददाता
देहरादून। राजधानी दून में नशे का कारोबार चरम पर होने के चलते यहां बाहरी प्रदेश के नशा तस्कर भी चांदी काट रहे है। बीते रोज पुलिस गिरफ्रत में आये नशे के एक सौदागर ने यह बात पुलिस के सामने कही।
नशे के सौदागर का कहना था कि देहरादून में नशीले पदार्थो की ज्यादा बिक्री होने के चलते पैसों के लालच में वह नशीले इंजेक्शन लाकर दून में सप्लाई किया करता था। आरोपी के अनुसार उसका निशाना अधिकतर कालेज में पढ़ने वाले छात्र छात्रएं ही होती थी। जिन्हे वह नशीले इंजेक्शन देकर मोटी रकम प्राप्त करता था। विदित हो कि उत्तराखण्ड पुलिस ने राज्य में नशे के खिलाफ अभियान चलाया हुआ है। इस अभियान के चलते जहां कई नशा तस्कर सलाखों के पीछे भेजे गये है वहीं भारी मात्र में नशा सामग्री भी बरामद की गयी है। पुलिस के इस अभियान के बावजूद राज्य और राजधानी में नशा तस्करी थमने का नाम नहीं ले रही है। पकड़े गये नशा तस्करों के अनुसार राज्य की राजधानी दून में अन्य प्रदेशों व जिलों की अपेक्षा नशीले पदार्थो की भारी खपत है। इसी के चलते बाहरी प्रदेशों के नशा तस्कर भी दून को अपना निशाना बनाये हुए है। देखना होगा कि नशा तस्करों के इस कबूलनामे के बाद पुलिस नशे के इस सिंडीकेट को ध्वस्त करने के लिए क्या कदम उठाती है?
नशीले इंजेक्शनों सहित एक गिरफ्तार
देहरादून। नशे के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान के तहत पुलिस को कल देर रात खासी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने एक नशा तस्कर को दबोच कर उससे भारी मात्र में नशीले इंजेक्शन बरामद किये है।
मिली जानकारी के अनुसार कल देर रात थाना सहसपुर पुलिस को सूचना मिली कि एक नशा तस्कर क्षेत्र में नशीले इंजेक्शनों की डिलीवरी हेतू आने वाला है। सूचना पर कार्यवाही करते हुए पुलिस ने क्षेत्र के सभी स्थानों पर चैकिंग अभियान चला दिया। इस दौरान पुलिस को रामपुर के समीप एक संदिग्ध व्यक्ति आता हुआ दिखायी दिया। पुलिस ने जब उसे रूकने का इशारा किया तो वह भागने लगा। इस पर उसे घेराबंदी कर दबोचा गया। तलाशी के दौरान पुलिस ने उसके पास से दो सौ पांच नशीले इंजेक्शन बरामद किये। थाने लाकर की गयी पूछताछ में उसने अपना नाम रवि सिंह निवासी सहारनपुर व हाल समीप मेंटल हास्पिटल बताया। पुलिस ने उसे नशा अधिनियम के तहत गिरफ्रतार कर लिया है।

LEAVE A REPLY