सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले की सुनवाई जनवरी 2019 तक टाली

0
82

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट में आज अयोध्या में ज़मीन विवाद मामले की सुनवाई टल गई है। अब जनवरी में तय होगा कि सुनवाई कब होगी। सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा कि जनवरी में उचित बेंच सुनवाई की तारीख तय करेगी। इस दौरान तुषार मेहता व अन्य पक्षकारों ने जल्द सुनवाई की मांग की, लेकिन पीठ ने कहा कि जनवरी में ही उचित बेंच तय करेगी कि कब से सुनवाई हो। आपको बता दें कि आज कुल दो मिनट ही सुनवाई हुई। अभी यह नहीं कहा जा सकता कि उचित बेंच में गोगोई होंगे या नहीं।
आज चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस के एम जोसेफ की बेंच ने सुनवाई की। चीफ जस्टिस की बेंच को ये तय करना था कि इस मामले की कब से सुनवाई की जाए और रोजाना सुनवाई की जाए या नहीं। इससे पहले २७ सितंबर को तत्कालीन चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस अब्दुल नजीर की बेंच ने २ः१ के बहुमत से फैसला दिया था कि १९९४ के संविधान पीठ के फैसले पर पुनर्विचार की जरूरत नहीं है, जिसमें कहा गया था कि मस्जिद में नमाज पढना इस्लाम का अभिन्न हिस्सा नहीं है। इसके साथ ही बेंच ने कहा था कि १९९४ का इस्माइल फारुखी फैसला सिर्फ जमीन अधिग्रहण को लेकर था। संविधान पीठ ने कहा था कि जमीनी विवाद से इसका लेना देना नहीं इसलिए सिविल मामले की सुनवाई होगी। हालांकि जस्टिस नजीर ने इससे असहमति जताते हुए कहा था कि संविधान पीठ के फैसले पर पुनर्विचार हो जस्टिस मिश्रा दो अक्तूबर को रिटायर हो चुके हैं। आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट की पीठ अयोध्या विवाद में इलाहाबाद हाईकोर्ट के २०१० के फैसले के खिलाफ दायर १३ अपीलों पर सुनवाई कर रहा है।

LEAVE A REPLY