सीएम ने किया हेल्थ डैश बोर्ड का शुभारंभ

0
4

मुख्यमंत्री खुद रख सकेगें सूबे की स्वास्थ्य सेवाओं पर नजर
देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने आज अपने आवास पर आयोजित एक कार्यक्रम में हेल्थ डैश बोर्ड का शुभारंभ किया है। इस डैश बोर्ड के जरिए अब मुख्यमंत्री सूबे की स्वास्थ्य सेवाओं पर अपने कार्यालय से ही नजर रख सकेगें।
उत्तराखण्ड राज्य की स्वास्थ्य सेवाओं खासकर पर्वतीय क्षेत्रें में स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति अत्यंत खराब है। सूबे के जिला अस्पतालों एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर आम लोगों को उचित इलाज और दवाएं न मिल पाने की शिकायतेें आम बात हो गयी है। राजधानी में बैठकर सूबे की स्वास्थ्य सेवाओं के बारे में यह जान पाना मुश्किल था कि कहां किस तरह की समस्याएं हैं। आज शुरू की गयी इस डैश बोर्ड योजना के जरिए अब मुख्यमंत्री और सूबे का स्वास्थ्य निदेशालय राजधानी में बैठकर ही पूरे राज्य की स्वास्थ्य सेवाओं का हाल जान सकेगें तथा अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दे सकेगें। इस अस्पताल और स्वास्थ्य केंद्र पर डाक्टरों और कर्मचारियों की उपलब्धता की जानकारी भी हो सकेगी।
आम तौर पर पर्वतीय क्षेत्रें से स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर कई तरह की शिकायतें आती रहती हैं। आज भी उत्तरकाशी से एक गर्भवती महिला को अस्पताल ले जाते समय एम्बुलेंस 108 का रास्ते में ही पेट्रोल खत्म हो जाने की खबर आई है जिसे बाद में ग्रामीणों द्वारा निजी वाहन से अस्पताल पहुंचाया गया। वैसे भी पर्वतीय ़क्षेत्रें में डाक्टराें की कमी अब तक पूरी नहीं हो सकी है। दो दिन पूर्व दून के महिला चिकित्सालय में जच्चा बच्चा की मौत के बाद यह सवाल उठाये जा रहे हैं कि जब राजधानी दून में सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं का हाल इतना खराब है तो पहाडों का क्या हाल होगा? देखना होगा कि अब डैश बोर्ड से पहाड की स्वास्थ्य सेवाओं में कितना सुधार हो पायेगा।

LEAVE A REPLY