मेटाबॉलिजम को कंट्रोल में किया जा सकता है

0
4

दुनिया भर में हुए तमाम रिसर्च में यह बात सामने आई है कि कुछ आसान विधियों को आजमाकर मेटाबॉलिजम को कंट्रोल में किया जा सकता है। मेटाबॉलिजम का काम शरीर को ऊर्जा प्रदान करना है। आप जो भी खाते हैं, उस पदार्थ से ऊर्जा का वितरण यह शरीर को करता है। यह एक प्रक्रिया है। इसके सुस्त होने से शरीर सही मात्रा में इंसुलिन ग्रहण नहीं कर पाता है और धीरे-धीरे डायबीटीज, बीपी जैसी बीमारियां आपको चपेट में ले लेती हैं, क्योंकि इससे आपके शरीर में फैट जमा होने लगता है।
ब्रेकफास्ट शरीर के लिए बहुत जरूरी है। इसलिए किसी भी सूरत में इसे स्किप न करें। रिसर्च में इस बात की पुष्टि हुई है कि ब्रेकफास्ट मेटाबॉलिजम को फिट रखने में मददगार साबित होता है। हालांकि अधिकतर भारतीय ब्रेकफास्ट लेने में रुचि नहीं दिखाते हैं या फिर लेते हैं, तो इसका कोई समय नहीं होता है। शरीर के लिए आवश्यक ऊर्जा और पोषण का 25 प्रतिशत भाग केवल नाश्ते से मिलता है। यह आपके शरीर में ऊर्जा के लेवल को बढ़ा देता है। बॉडी में पाचन, अवशोषण (अब्जार्प्शन) और भोजन के प्रसंस्करण के जरिए कैलरी बर्न होती है। रात को खाने के बाद एक लंबा फास्ट हो जाता है। इसलिए इसे ब्रेक करना जरूरी है। ब्रेकफास्ट न लेने पर शरीर में फैट बढऩे की प्रक्रिया और भी तेज हो जाती है। इसे आप ऐसे भी समझ सकते हैं कि मनुष्य का मैटाबॉलिज्म रेट सोते समय कम हो जाता है। इससे शरीर में जमा कैलोरीज बहुत धीरे-धीरे जलती हैं। जबकि जगे होने पर यह क्रिया तेज गति से होती है और कैलोरीज भी जल्दी जलती हैं। इससे शरीर में एनर्जी लेवल हाइ रहता है। सुबह ब्रेकफास्ट न करने से जो कैलरी शरीर में नहीं गई, अक्सर लंच टाइम में आप उससे ज्यादा कैलरी ले लेते हैं। इसलिए डाइटिंग का फंडा खराब असर छोड़ता है। इसलिए जरूरी है कि आप ब्रेकफास्ट जरूर करें और इसमें कम फैट और मेटाबॉलिजम को बढ़ाने वाली चीजों को शामिल करें। एक गिलास वेजिटेबल जूस, 3-4 अंडों का सफेद भाग और एक ब्रेड स्लाइस लेना एक अच्छा आइडिया है। यह नाश्ता हेल्दी और पोषक होता है, इसे दिन की सही शुरुआत कही जा सकती है। सइससे आप लंबे समय तक फिट रहेंगे और इससे दिन की शुरुआत अच्छे से हो सकेगी। लंच आवर में आप संतुलित मात्रा में खाना खाएंगे।
अधिक पानी पाचन तंत्र को तो सही रखता है। साथ ही, यह तेजी से कैलरी बर्न करने का भी काम करता है। इसलिए अच्छी सेहत के लिए कम से कम 8 से 12 ग्लास पानी जरूर पीएं। आप सुबह उठते ही कम से कम 3 ग्लास पानी पीयें। इससे आपके पाचन क्रिया सही रहेगी। पानी और पेय पदार्थ आपको अच्छा फील कराते हैं। इसके अलावा इसके सेवन से आपके डाइट पर नियंत्रण रहता है। एक रिसर्च में इस बात को स्वीकार किया गया है कि 17 औंस पानी पीने के बाद शरीर की मेटाबॉलिजम दर में 3० फीसदी की वृद्धि हो जाती है। इसके अलावा, पानी की एक और खूबी यह है कि यह शरीर के विषैले तत्वों को कम करने का भी काम करता है।
लोग इस बात पर विश्वास नहीं रखते हैं कि खाने से भी कैलरी बर्न करने में मदद मिलती है। हां, इसके लिए आपको खाने की चीजों को चुनना पड़ता है। जैसे कि नाशपाती और अंगूर खाने से मेटाबॉलिजम रेट में वृद्धि हो जाती है। प्रोटीन को भी मेटाबॉलिजम रेट को बढ़ाने में सहायक माना जाता है। इसलिए आप सुबह अपने ब्रेकफास्ट में इसे शामिल कर सकते हैं।
लाइफ में हंसना बहुत जरूरी है। वैज्ञानिकों का यह मानना है कि आप खुलकर 1० मिनट हंसते हैं, तो इससे आप एजर्नी बर्न करते हैं। इससे आपका मेटाबॉलिजम सही रहता है। खुलकर हंसने से टेंशन और डिप्रेशन कम होता है। शरीर में रोग से लडऩे की क्षमता बढ़ जाती है और सकारात्मक सोच का विकास होता है। इसलिए इस आदत को अपनी जिंदगी में जरूर शामिल करें।

LEAVE A REPLY