अजय भट्ट का कार्यकाल बढ़ाए जाने की संभावना

0
14

देहरादून। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट का कार्यकाल बढ़ाया जा सकता है। संभावना है कि आगामी लोकसभा चुनाव भाजपा द्वारा अजय भट्ट के नेतृत्व में ही लडेगी।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट का कार्यकाल 2018 के अन्त तक है लेकिन अब उनका कार्यकाल बढ़ाए जाने की चर्चाएं भी राजनीतिक गलियारे में शुरू हो गयी हैं। लोगों का मानना है कि लोकसभा चुनाव से ऐन पहले यदि भाजपा द्वारा प्रदेश अध्यक्ष बदला जाता है तो इसका चुनाव पर असर पड सकता है। प्रदेश अध्यक्ष का कार्यकाल तीन साल का होता है जो इसी साल खत्म हो रहा है। उनके कार्यकाल को बढ़ाने के लिए आगामी 13 सितम्बर को दून में होने वाली कार्यकारिणी बैठक में इस आशय का प्रस्ताव लाए जाने की उम्मीद है।
राजनीतिक समीक्षकों का मानना है कि भाजपा भले ही विधानसभा चुनाव में बम्पर जीत के साथ सत्ता में पहुंची हो लेकिन पार्टी के अंदर आंतरिक मतभेद भी कम नहीं हैं। इन मतभेदों का ही नतीजा है कि अब तक मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत न तो खाली पडे दो कैबिनेट पदों को भर सके हैं और न ही अपने कार्यकर्ताओं को दायित्वों का बंटवारा कर सके हैं। ऐसी स्थिति यह स्वाभाविक है कि यदि भाजपा द्वारा किसी नये व्यक्ति को प्रदेश अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी सौंपी जाती है तो इसे लेकर मतभेद उभर सकते हैं। यही कारण है कि चुनाव से पहले भाजपा इस तरह का कोई जोखिम नहीं उठाना चाहेगी। वैसे भी प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट अमित शाह और केंद्रीय नेतृत्व की पहली पसंद हैं। आगामी समय में निकाय चुनाव भी होने वाले हैं तथा इसके बाद लोकसभा चुनाव भी नजदीक हैं। ऐसे में यही कयाश लगाये जा रहे हैं कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट का कार्यकाल बढ़ाकर उन्हें पद पर बनाये रखेगी।

LEAVE A REPLY