देवभूमि में दिखा बन्द का खासा असर

0
104

पेट्रोल व डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में कांग्रेस का भारत बन्द
देहरादून। पेट्रोल व डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में कांग्रेस द्वारा आयोजित भारत बन्द का उत्तराखण्ड में भी व्यापक असर देखने को मिला। राजधानी देहरादून सहित अनेक पर्वतीय जनपदों में महंगाई के विरोध में व्यापारिक प्रतिष्ठान तथा स्कूल, कालेज और बाजार बन्द रहे।
बढती महंगाई के विरोध में कांग्रेस द्वारा आयोजित किये गये इस बन्द को अनेक व्यापारिक संगठनों और सामाजिक संगठनों के अलावा इक्कीस राजनीतिक दलों द्वारा समर्थन किया गया था। तय कार्यक्रम के अनुरूप आज राजधानी दून स्थित राजीव गांधी भवन में बडी संख्या में प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व मेंं कांग्रेसी नेता और कार्यकर्ता एकत्रित हुए जहां से वह खुली जीप में राजधानी के सभी प्रमुख बाजारों और सड़कों से जुलूस की शक्ल में केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए लोगों से समर्थन की अपील करते दिखे। इस अवसर पर प्रीतम सिंह ने कहा कि बढ़ती महंगाई के कारण आम आदमी परेशान है जीएसटी से व्यापारी परेशान है और बेरोजगारी से युवा परेशान हैं उन्होनें कहा कि इस बन्द को आम जनता का समर्थन प्राप्त है। यह कोई जबरदस्ती का बन्द नहीं है। इस दौरान राजधानी के सबसे प्रमुख पलटन बाजार सहित अन्य सभी बाजारों में अधिकांश दुकानें बन्द रही जबकि सड़कों पर वाहनों की आवाजाही नियमित बनी रही।
उधर हल्द्वानी से प्राप्त समाचार के अनुसार यहां बन्द का व्यापक असर देखने को मिला। इस दौरान स्कूल, कालेज व व्यापारिक प्रतिष्ठान बन्द रहे। व्यापारियों ने अपनी दुकानें नहीं खोली उधर अल्मोडा में भी बन्द का व्यापक असर देखने को मिला यहां भी स्कूल, कालेज व बाजार तथा पेट्रोल पम्प आदि बन्द रहे। उत्तरकाशी में भी बाजार पूरी तरह बन्द रहे। व्यापार मंडल के समर्थन के कारण यहां भी बन्द का व्यापक असर देखने को मिला। कांग्रेस नेता विजय सजवाण के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बाजारों में जुलूस निकालकर लोगों से सहयोग की अपील की।
उधर कोटद्वार दुगड्डा और धुमाकोट में भी व्यापारियों ने बाजार बन्द रखा तथा सुरेन्द्र सिंह नेगी के नेतृत्व में केंद्र सरकार के खिलाफ जबरदस्त प्रदर्शन किया। यहां लोगों ने पेट्रोल व डीजल की कीमतों में हो रही वृद्वि के विरोध में बैलगाडी पर बैठकर अपना विरोध जताया। ऋषिकेश व हरिद्वार में भी अधिकांश बाजार बन्द रहे। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बढ़ती महंगाई के विरोध में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया और बाजार बन्द कराया। उधर रामनगर से प्राप्त समाचार के अनुुसार यहां भी बन्द का जबरदस्त असर देखने को मिला है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने यहां रणबीर सिंह रावत के नेतृत्व में केंद्र सरकार के विरूद्व प्रदर्शन किया। इस अवसर पर रणबीर सिंह रावत ने कहा कि यह कांग्रेस का नहीं जनता का बन्द है उन्होनें कहा कि बढ़ती महंगाई के कारण जनता परेशान है। डबल इंजन की इस सरकार ने पेट्रोल व डीजल की कीमतें नरेंद्र मोदी की उम्र से भी ऊपर पहुंचा दी हैं और यही हाल रहा तो आने वाले समय में यह अटल बिहारी वाजपेयी की उम्र से भी ऊपर पहुंच जाएंगे। काशीपुर व रूद्रपुर में भी 80 से 85 फीसदी दुकानें बन्द रही जबकि श्रीनगर, पौडी तथा चंपावत में बन्द का आंशिक असर ही देखने को मिला।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत गिरफ्तार
संवाददाता
देहरादून। कांग्रेस द्वारा बढ़ती मंहगाई के विरोध में किये गये भारत बंद में प्रदर्शन के दौरान वरिष्ठ कांग्रेसी नेता व उत्तराखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को आज गुवाहाटी में गिरफ्तार किया गया है।
विदित हो कि बढ़ती मंहगाई के विरोध में कांग्रेस पार्टी द्वारा आज सम्पूर्ण भारत बंद का आहवान किया गया था। भारत बंद के दौरान जहां देश के कई हिस्सों में प्रदर्शन की खबरें आयी। वहीं प्रदर्शन के दौरान उत्तराखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को आज असम की राजधानी गुवाहाटी से गिरफ्रतार किया गया है। बताया जा रहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत आज गुवाहाटी में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ सचिवालय के समीप प्रदर्शन कर रहे थे।

LEAVE A REPLY