स्कूलों की मनमानी के विरोध में आप ने शिक्षा निदेशक को ज्ञापन सौंपा

0
8

हमारे संवाददाता
देहरादून। आम आदमी पार्टी द्वारा आज निजी स्कूलों में छात्रें से शासकीय नियम विरूद्ध पाठड्ढ पुस्तकें मँगाने के विरोध में अभिभावकों के साथ ननूरऽेड़ा स्थित शिक्षा निदेशालय में प्रदर्शन कर शिक्षा निदेशक को ज्ञापन सौंपा गया।
ज्ञापन के माध्यम से कहा गया है कि देहरादून में कई निजी स्कूलों द्वारा शासकीय आदेशों को ठेंगा दिऽाते हुये छात्रें व अभिभावकों से एनसीईआरटी के अलावा अन्य बाहरी प्रकाशकों की पाठड्ढ पुस्तकें मँगवाई जा रही हैं, जबकि राज्य सरकार द्वारा स्पषटतः एनसीईआरटी की पुस्तकों की ही अनुमति दी गयी है।
उन्होंने कहा कि कुछ निजी स्कूलों की इस मनमानीपूर्ण रवैये के कारण अभिभावकों पर अतिरित्तफ़ आर्थिक भार पड़ रहा है। बुक शॉप वाले अभिभावकों से स्कूलों द्वारा बताई गयी पुस्तकों की मनमानी कीमत वसूल कर रहे हैं। एक सेट की कीमत आठ हजार रूपये तक ली जा रही है और ऽरीद का बिल भी नहीं दिया जा रहा है, जिसके कारण अभिभावकों में व्यवस्था के प्रति आक्रोश व्यत्तफ़ है। शिक्षा निदेशक को सौंपे ज्ञापन के माध्यम से आम आदमी पार्टी ने माँग की है कि शासन-प्रशासन द्वारा निजी स्कूलों की मनमानी पर तत्काल अंकुश लगाया जाये और अभिभावकों से वसूली गयी अतिरित्तफ़ धनराशि लौटाई जाये अन्यथा आम आदमी पार्टी अभिभावकों को साथ लेकर सड़कों पर आंदोलन करने पर बाध्य होगी।
आप नेताओं ने बताया कि आम आदमी पार्टी द्वारा तत्संबंध में विगत 31 अगस्त को जिलाधिकारी देहरादून को भी ज्ञापन सौंपकर उत्तफ़ प्रकरण में तुरंत कार्यवाही करने की माँग की थी, जिसके प्रतिफल में जिलाधिकारी द्वारा मुख्य शिक्षा अधिकारी को जाँच कमेटी गठित कर जाँच करने के आदेश जारी किय थे। ज्ञापन सौंपने वालो में मध्यदून जिलाध्यक्ष विशाल चौधरी, जिला सचिव जीतेन्द्र पंत, मसूरी विधानसभा अध्यक्ष विनोद बजाज, परवादून अध्यक्ष वीरेन्द्र पोऽरियाल, सुनील घाघट, जगदीश चंद्र मिश्रा, एस-के-राजपूत, कमल राना, विनोद पंत आदि शामिल रहे।

LEAVE A REPLY