महर्षि वाल्मीकि जयंती को राष्ट्रीय अवकाश घोषित कराने की की जायेगी मांगः मकवाना

0
4

संवाददाता
देहरादून। मोदी सरकार द्वारा संविधान निर्माता भारत रत्न डा-भीम राव अम्बेडकर से जुड़े स्थलों को पंचतीर्थ के रूप में विकसित करने, उनकी स्मृति में डाक टिकट व सिक्के जारी कर बाबा साहेब को सम्मान देने का कार्य किया गया है। एससी एक्ट को मूल रूप में लागू करने जैसी अन्य बातों को लेकर राष्ट्रीय वाल्मीकि क्रान्ति कारी मोर्चा मोदी सरकार का आभार व्यक्त करता है। साथ ही राष्ट्रीय वाल्मीकि क्रान्तिकारी मोर्चा की कार्यकारणी भी गठित कर दी गयी है।
यह बात आज प्रैस क्लब में पत्रकार वार्ता के दौरान राष्ट्रीय वाल्मीकि क्रान्ति कारी मोर्चा के संस्थापक/राष्ट्रीय अध्यक्ष भगवत प्रसाद मकवाना ने कही। उन्होने बताया कि राष्ट्रीय वाल्मीकि क्रान्तिकारी मोर्चा का राष्ट्रीय स्तरीय ‘वाल्मीकि स्वाभिमान सम्मेलन’ 7 अक्टूबर को नई दिल्ली में आयोजित किया जायेगा। जिसमें केन्द्र सरकार को वाल्मीकि समाज के हित हेतू कार्य करने के लिए धन्यवाद देने के साथ ही सफाई कार्य में ठेकेदारी प्रथा समाप्त करके सफाई कर्मचारियों को चतुर्थ श्रेणी के पद पर बहाल करने की मांग की जायेगी। उन्होने कहा कि सम्मेलन में केन्द्र सरकार से यह भी मांग की जायेगी कि महर्षि वाल्मीकि जयन्ती को राष्ट्रीय अवकाश घोषित किया जाये। सम्मेलन में केन्द्र सरकार के मंत्री, आयोग के अध्यक्ष व वरिष्ठ नेताओं को आंमत्रित किया जायेगा। उन्होने बताया कि संगठन द्वारा राष्ट्रीय कार्यकारणी भी गठित कर दी गयी है।

LEAVE A REPLY