मानसूनी आपदा से राहत के संकेत

0
5

15 सितम्बर तक सूबे में मध्यम रहेगी बारिश
देहरादून। डेढ़ दो माह से झमाझम बारिश का कहर झेल रहे उत्तराखण्ड के लोगों के लिए राहत की खबर है कि आगामी 10 दिनों तक सूबे में हल्की और मध्यम बारिश ही होगी तथा 15 सितम्बर के बाद उसमें और भी कमी आयेगी।
मौसम विभाग के निदेशक डॉ विक्रम सिंह रावत के द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार अब तक सूबे में कुल मिलाकर बारिश का स्तर सामान्य ही रहा है। हालांकि कुछ जनपदों में सामान्य से कम तो कुछ में सामान्य से थोडी ज्यादा बारिश हुई है लेकिन वह मानते हैं कि वर्तमान मानसूनी सीजन उत्तराखण्ड के लिए सामान्य ही रहा है और मानसून के कारण बहुत अधिक जनधन की क्षति नहीं हुई है। उनका कहना है कि अगले सात सितम्बर तक राज्य में हल्की बारिश होने की सम्भावना है जिसके बाद आठ और नौ सितम्बर में कुमाउं मण्डल के कुछ हिस्सों में थोडी ज्यादा बारिश हो सकती है लेकिन इसके बाद 15 सितम्बर तक सूबे में मध्यम बारिश का दौर रहेगा। उनका कहना है कि 15 सितम्बर के बाद राज्य में छुटपुट बारिश ही होगी और इसे मानसून की समाप्ति माना जा सकता है।
बीते तीन दिनों से राज्य में हो रही भारी बारिश के कारण कई जगह भूस्खलन की घटनाएं हुई हैं। सडकों पर आये मलवे के कारण यात्रियों को भारी परेशानी उठानी पडेगी। बीते दो दिनों से चमोली के लामबगड में भूस्खलन से बद्रीनाथ हाइवे बंद पडा है। सडक का एक हिस्सा बह जाने से यातायात बाधित है और सडक के दोनों ओर वाहनों की कतारें लगी हुई हैं। वहीं नैनीताल में एनएच 87 पर कई जगह भूधंसाव और भूस्खलन के कारण लोगों को भारी परेशानी हो रही है। जिले में 46 डेंजर जोन बन चुके हैं। माल रोड का एक हिस्सा टूट जाने से लोग परेशान हैं। बागेश्वर, उत्तरकाशी, दून तथा मसूरी में भी बारिश से भारी तबाही हुई है।
देश में बारिश से 1,238 लोगो की मौत
देहरादून। उत्तराखण्ड ही नहीं देश के कई राज्यों में इस साल मानसून से भारी जनधन हानि हुई है। केरल में अब तक सबसे ज्यादा 488 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि उत्तरप्रदेश में 254 लोग काल के गाल में समा चुके हैं। उत्तराखण्ड में भले ही मानसूनी आपदा से मरने वालों की संख्या दो दर्जन के आसपास रही हो लेकिन देश भर में इस साल मानसूनी आपदा से 1,238 लोगों की मौत हो चुकी है तथा 17,38000 लोग बेघर हो चुके हैं जो राहत शिविरों में रहने पर मजबूर हैं। अभी देश पर मानसूनी आपदा का कहर जारी है। यूपी के छत्तीस जिले बाढ़ से प्रभावित हैं तथा मौसम विभाग द्वारा आगामी 24 घंटो में 6 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी दी गयी है।

LEAVE A REPLY