ट्रिपल मर्डर से सनसनी

0
9

बढ़ते अपराधों से थर्राया उत्तराखण्ड़

चम्पावत में एक ही परिवार के तीन सदस्यों की हत्या
देहरादून। उत्तराखण्ड़ की शान्त वादियों में बढ़ती आपराधिक वारदातें पुलिस प्रशासन के लिए बडी चुनौती बनती जा रही है। हल्द्वानी में एक ही माह में हत्या और लूटपाट की कई घटनाओं के बाद आज चम्पावत में एक ही परिवार के तीन सदस्यों की हत्या से पुलिस प्रशासन में हडकंप मचा हुआ है। पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्रतार करने का दावा किया है जिनसे पूछताछ की जा रही है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार उक्त घटना तिला चलथी चौकी क्षेत्र के उदाली गांव के चांचारी तोक की है जहां बीती रात धारदार हथियारों से काटकर एक ही परिवार के तीन लोगों की हत्या कर दी गयी। मृतकों में एक साठ वर्षीय पुरूष उसकी पत्नी और वृृद्व मां शामिल है। घटना की सूचना मिलने पर क्षेत्र में भारी आक्रोश की स्थिति बनी हुई है। मौके पर पहुंची पुलिस ने तीनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
हत्या के कारणों का अभी खुलासा नहीं हो सका है लेकिन क्षेत्र के लोगों का मानना है कि जिन लोगों की हत्या की गयी है उनकी लम्बे समय से अपने पडोस के लोगों के साथ रंजिश चल रही थी इस हत्याकांड को इस रंजिश का परिणाम भी बताया जा रहा है। जबकि पुलिस द्वारा इस हत्याकांड को लूटपाट के इरादे से अंजाम दिया जाना बताया जा रहा है। पुलिस का कहना है कि घर का सारा सामान जिस तरह फैला हुआ था उससे प्रथम दृष्टया यह लूट के लिए की गयी हत्या ही प्रतीत होती है। एडीजी अशोक कुमार द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्रतार किया है जिनसे पूछताछ की जा रही है। उनका दावा है कि शीघ्र ही इस मामले का खुलासा कर दिया जाएगा।
पूनम हत्याकांड की जांच एसआईटी करेः हाईकोर्ट
देहरादून। विगत 28 अगस्त को हल्द्वानी के गोरागांव में हुए पूनम हत्याकांड का स्वतः संज्ञान लेते हुए नैनीताल हाईकोर्ट ने इस मामले की जांच एसआईटी के द्वारा किये जाने के निर्देश दिये हैं।
हल्द्वानी में एक माह में हुई दो हत्या की घटनाओं पर हाईकोर्ट ने कहा है कि राज्य में बढ़ रही हत्या और अपराधों की वारदातें चिन्ता का विषय हैं। 28 अगस्त को हल्द्वानी में पूनम की हत्या कर दी गई थी जबकि उसकी बेटी गोली लगने से घायल हो गयी थी। बदमाशों ने घर में बंधे कुत्ते को भी गोली मार दी थी इस मामले का पुलिस अभी तक खुलासा नहीं कर सकी है। हाईकोर्ट ने इस मामले की जांच एसआईटी से कराने और दो सप्ताह में अदालत को रिपोर्ट देने को कहा है।

LEAVE A REPLY