नशे के जाल को भेद पाने में नाकाम खाकी?

0
14

अपराध संवाददाता
देहरादून। राज्य सरकार जहां एक तरफ नशे के खिलाफ अभियान चलाते हुए सिने अभिनेता संजय दत्त को ब्रांड एंबेसडर बना रही है तो वहीं दूसरी ओर राज्य में नशा कारोबार इतने चरम पर पांव पसार चुका है कि अब इन नशा कारोबारियों पर लगाम कसना असंभव सा हो गया है। आये दिन पकड़े जाने वाले छुटभैये नशा तस्करों से इसकी बानगी देखने को मिलती है। जबकि बड़े नशा तस्कर हमेशा पुलिस गिरफ्रत से बाहर रहते है।
उत्तराखण्ड राज्य नशा तस्करों की चपेट में आ चुका है। नशा तस्कर राज्य में पढ़ने वाले कई छात्र छात्रओं को नशे का शिकार बना चुके है। पुलिस द्वारा जब भी किसी नशा तस्कर को दबोचा जाता है तो उसका यही कहना होता है कि वह शिक्षण संस्थानों के आस पास नशे की सप्लाई देते है। राज्य में चाहे गढ़वाल मण्डल हो या कुमांऊ मण्डल हर जगह नशा तस्कर अपने पांव पसार चुके है। पिछले काफी समय से राज्य सरकार के निर्देश पर पुलिस ने नशे के खिलाफ अभियान चलाया हुआ है। सोचनीय सवाल यह है कि क्या यह अभियान सफलता की राह पर है? अगर ऐसा होता तो अब तक नशे के बड़े कारोबारी पुलिस की गिरफ्रत में होते। हर बार छुट भैये नशा तस्करों को दबोच कर पुलिस अपनी पीठ थपथपाती है। जबकि पुलिस यह भी दावा करती है कि उक्त तस्कर फंला जगह से नशा लाकर उसे शिक्षण संस्थानों में सप्लाई किया करता है। अगर ऐसा है तो पुलिस ने अब तक उन जगहों पर कार्यवाही क्यों नहीं की जहां से यह छुटभैये नशा तस्कर नशे की डिलीवरी लेकर आते है। इस सम्बन्ध में सवाल करने पर पुलिस बगलें झांकने लगती है। आखिर क्या बात है कि पुलिस हमेशा बड़े नशा तस्करों पर हाथ डालने में कतराती है। क्या इसके पीछे कोई राजनीतिक दबाव काम कर रहा है। हर बार पुलिस के हाथोें छोटे नशा तस्कर ही क्यों लगते है? बहरहाल राज्य सरकार भी नशे के खिलाफ अपना काम कर रही है और हमारी मित्र पुलिस भी। देखना होगा कि नशे के कारोबार पर उत्तराखण्ड राज्य में कब तक लगाम लग सकेगी?

पचास हजार की स्मैक सहित दो गिरफ्तार
देहरादून। सहसपुर पुलिस ने कल देर रात दो नशा तस्करों को हजारो रूपये की स्मैक सहित गिरफ्तार किया है। आरोपी शातिर किस्म के तस्कर है जो पहले भी नशा तस्करी के आरोप में जेल की हवा खा चुके है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार कल देर रात सहसपुर पुलिस को सूचना मिली कि क्षेत्र में कुछ नशा तस्कर नशे की डिलीवरी हेतू आने वाले है। सूचना पर कार्यवाही करते हुए पुलिस ने रामपुर क्षेत्र से बाइक सवार दो संदिग्ध लोगों को दबोच लिया। तलाशी के दौरान पुलिस ने उनके पास से 9-45 ग्राम स्मैक बरामद की। तस्करों के नाम वाहिद हसन व इसरार बताये जा रहे है जो पहले भी नशा तस्करी के आरोप में जेल की हवा खा चुके है। बरामद स्मैक की कीमत पचास हजार रूपये बतायी जा रही है।

LEAVE A REPLY