गुरुग्राम में बुराड़ी की तरह परिवार के तीन सदस्यों का शव मिलने से हड़कंप!

0
6

नई दिल्ली। गुरुग्राम में एक बार फिर से दिल्ली के बुराड़ी की तरह परिवार के तीन सदस्यों का शव मिलने से हड़कंप मच गया है। यह मामला गुरुग्राम के पटौदी बृजपुरा गांव का है जहां परिवार के तीन सदस्यों का शव मिला है, जबकि परिवार की चैथी सदस्य जोकि महज एक साल की बच्ची है उसका अस्पताल में मौत हो गई। इस मामले के बारे में पुलिस का कहना है कि एक महिला का शव फांसी के फंदे से लटकता मिला है, जबकि दो शव फर्श पर पड़े हुए थे। एक बच्ची भी घर में बेहोश पड़ी थी, जिसे अस्पताल इलाज के लिए भेजा गया, जहां उसकी मृत्यु हो गई। हालांकि अभी तक यह साफ नहीं हो सका है कि यह हत्या किसने की है, पुलिस मामले की जांच कर रही है।
यह घटना गुरुवार की है, जब लोगों ने इस घटना की जानकारी पुलिस को दी तो मौके पर पहुंची पुलिस ने घर का दरवाजा खुला तो हर कोई घर के भीतर का मंजर देखकर दहशत में आ गया। घर के भीतर तीन लोगों को शव था, जबकि मासूम बच्ची घायल थी, जिसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मृत्यु हो गई। दरअसल जब दूधवाला घर पर दूध देने के लिए पहुंचा तो उसने घर का दरवाजा खटखटाया लेकिन जब कोई बाहर नहीं निकला तो उसने पड़ोस में पूछा कि क्या ये लोग बाहर गए हैं। उसके बाद पड़ोसी घर दरवाजा खोलकर अंदर गए, जहाां फूलवती, उनके बेटे मनीष का शव जमीन पर पड़ा हुआ था, जबकि बहू पिंकी की लाश फंदे से लटक रही थी। उसके दोनों हाथों की नशें कटी हुई थी, साथ ही सिर व शरीर पर भी गंभीर चोट के निशान थे।
वहीं मनीष का ढाई साल का बेटा पुरी तरह से सही था और वह घर के एक कोने में बैठा हुआ था लेकिन वह कुछ बोल नहीं पा रहा था। जबकि बच्ची जोकि बुरी तरह से घायल थी उसे पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन उसकी मृत्यु हो गई। घटना के बाद पूरे गांव में दहशत का माहौल है। घटना के बारे में गांव के सरपंच करण सिंह ने बताया कि मनीष रेवाड़ी के नजदीक कपड़े की दुकान चलाता था, उसकी किसी से कोई दुश्मनी नहीं थी, यह समझ नहीं आ रहा है कि किसने इस घटना को अंजाम दिया है।

LEAVE A REPLY