लगातार भारी बारिश के कारण जन-जीवन बुरी तरह से अस्त-व्यस्त

0
7

रुद्रप्रयाग। लगातार जारी बारिश के कारण जन-जीवन बुरी तरह से प्रभावित हो गया है। बारिश कहर बरपा रही है। ग्रामीण जनता घरों में कैद हो गई है। ग्रामीण क्षेत्रों को जोडऩे वाले अधिकांश मोटरमार्ग बंद पड़े हुये हैं। जिस कारण दिक्कतें बढ़ गई है। कालीमठ घाटी के अधिकांश गांवों के ग्रामीण घरों में ही कैद हैं। वहीं बद्रीनाथ और केदारनाथ हाईवे पर जगह-जगह भूस्खलन होने का सिलसिला जारी है। सोमवार को केदारनाथ हाईवे, डोलिया देवी, कुण्ड और बद्रीनाथ हाईवे सिरोबगड़ में घंटों तक बंद रहा।
रुद्रप्रयाग में बारिश का कहर जारी है। बारिश के कारण आम जनता की परेशानियां बढ़ती जा रही हैं। तीन दिनों से जारी बारिश के कारण अधिकांश गांवों का संपर्क ब्लॉक एवं जिला मुख्यालय से कट गया है। गांवों में आवश्यक सामग्री की आपूर्ति ठप पड़ गई है। जिले में कोटी-बड़मा, घटियाली-धरियांज, रैंतोली-जसोली, गुप्तकाशी-कालीमठ, विजयनगर-पठालीधार, काण्डई-कमोल्डी, बांसबाड़ा-कणसिल, जगोठ-कमसाल, जाबरी-जयकण्डी आदि मोटरमार्ग बंद पड़े हुये हैं। इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में कई पैदल मार्ग भी ध्वस्त हो गये हैं। केदारघाटी के आपदा पीडि़त गांव खतरे के साये में जीवन यापन कर रहे हैं। गुप्तकाशी-कालीमठ मोटरमार्ग 1० दिनों से बंद पड़ा हुआ है। मां काली के भक्त दर्शन करने भी नहीं पहुंच पा रहे हैं। कोटला, कविल्ठा, कालीमठ, चैमासी, जाल, चिलोण्ड सहित अन्य गांवों में आवश्यक सामग्री की आपूर्ति ठप पड़ी हुई है। कई वाहन भी मोटरमार्ग पर फंसे हुये हैं। ग्रामीण जान जोखिम में डालकर आवाजाही कर रहे हैं। इसके अलावा पूर्वी बांगर क्षेत्र के भी यही हाल हैं।(आरएनएस)

LEAVE A REPLY