महाराष्ट्र में 60 मुस्लिम संगठनों ने आरक्षण को लेकर आवाज बुलंद की

0
4

मुंबई। महाराष्ट्र में मराठा समाज के बाद अब मुस्लिम समाज भी आरक्षण की मांग को लेकर आक्रमक हो गया है। राज्य के ६० मुस्लिम संगठनों ने एक फोरम का गठन किया है। मुस्लिम समाज पिछले कई वर्षों से पांच फीसदी आरक्षण की मांग कर रहा है, लेकिन यह पहला मौका है जब इतनी बड़ी संख्या में संगठनों ने एक साथ सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला हो।
मुस्लिम समाज भी अब आरक्षण के लिए लामबंद होना शुरू हो गया है। सकल मराठा समिति की तर्ज पर अब मुस्लिम आरक्षण संयुक्त समिति की स्थापना की गई है। कांग्रेस के राज्यसभा सांसद हुसैन दलवई ने बताया कि मुस्लिम समाज लंबे समय से आरक्षण की मांग कर रहा है। उन्होंने कहा कि अब विधिवत तरीके से आरक्षण की लड़ाई लड़ी जाएगी। दरअसल, कांग्रेस और एनसीपी सरकार ने साल २०१४ में चुनाव के ठीक पहले मराठा आरक्षण के साथ मुस्लिमों को भी शिक्षा और रोजगार में पांच फीसदी आरक्षण दिया था। बाद में यह मामला अदालत में पहुंच गया था। अदालत ने रोजगार में पांच फीसदी आरक्षण पर रोक लगा दी थी, लेकिन शिक्षा में आरक्षण पर कोई रोक नहीं लगी।

LEAVE A REPLY