देवभूमि में आपदा जैसे हालात

0
16

हादसों में पांच लोगों की जान गयी
सड़कें बंद नदियां उफान पर, बाढ़ का खतरा
नगर संवाददाता
देहरादून। सूबे में मानसून का कहर जारी है लगातार हो रही बारिश के कारण कई क्षेत्रें में आपदा जैसी स्थिति हो गयी है। नदी, नाले, गदेरे उफान पर है। सड़कें ध्वस्त हो रही है लोगों के घर मकानों में मलबा घुस रहा है और उनको जान माल का भारी खतरा पैदा हो गया है।
बीती रात हुई मूसलाधार बारिश के कारण कोटद्वार में आपदा जैसे हालात पैदा हो गये है। रामपुर इलाके पनियारा नाले में आये सैलाब से रिफ्रयूजी कालोनी और कोटियाला बस्ती में पानी और मलबा घुस गया है। पानी के तेज बहाव में एक महिला के बह जाने की खबर है वहीं चपांवत में मलबे की चपेट में आकर एक कैटंर के खाई में गिर गया। जिसमें ड्राईवर ने जैसे तैसे कूद कर अपनी जान बचाई। अल्मोड़ा में एक ट्रक के खाई में गिर जाने से दो लोगों की मौत हो गयी। दन्या थाना क्षेत्र की इस घटना में पुलिस ने दोनों मृतकों के शव बरामद कर लिये है। वहीं रूद्रप्रयाग में एक गौशाला के ध्वस्त होने तथा नाले में आये उफान के कारण सड़कों और छह पुलियाओं के ध्वस्त होने की खबर है। वहीं टिहरी में एक मैक्स के खाई में गिरने से दो लोगों की मौत हो गयी जबकि दस अन्य लोग घायल हो गये है। गंगोत्री-ऋषिकेश मार्ग पर यह घटना कमांद के पास हुई है। उधर हद्विार में नीलधारा ने रौद्र रूप धारण कर लिया है जिसके कारण लक्सर क्षेत्र का कलसिया तटबंध टूटने के कगार पर पहुंच गया है तटबंध को बचाने के लिए प्रशासनिक अधिकारी और ग्रामीण कोशिशों में लगे हुए है। अगर यह तटबंध टूटा तो 25 से 30 गांव डूब जायेगें। हरिद्वार मे। सौंग नदी भी उफान पर है जहां एक स्कूली बस आज घंटो फंसी रही। उधर कपकोट से भी भारी बारिश व तबाही की खबरें है। हल्द्वानी- नैनीताल तथा हल्द्वानी-कालाडूंगी राजमार्ग पर मलबा आने के कारण यातायात बंद हो गया हैं जहां से देवीधुरा से यातायात को डाईवर्ट किया गया है। उधर धौलास में मलबा आने से बीती रात एक मकान क्षतिग्रस्त हो गया और घर में रखा हुआ लाखो का सामान बर्बाद हो गया।

LEAVE A REPLY