गिरता रुपया और तमाशाई डॉलर

0
6

आलोक पुराणिक
जिस रुपये के लिए बंदा जाने कहां-कहां कितना-कितना गिरता है, वही रुपया आज बहुत ज्यादा गिर रहा है। एक डॉलर की हैसियत इतनी हो गयी है कि अपने बदले करीब सत्तर रुपये गिरा ले। कुछ समय पहले एक डॉलर के बदले करीब 64 रुपये आते थे।
रुपया और गिरा तो एक डॉलर के बदले अस्सी रुपये मिल जायेंगे। रुपये के गिरने की लिमिट क्या है जी। रुपये का हाल नेताओं के कैरेक्टर-सा है। गिरने की कोई लिमिट नहीं है। नागिन पर कितने सीरियल बनेंगे जी और रुपया कितना गिरेगा। इन दोनों सवालों का जवाब एक ही-कोई लिमिट नहीं।
जी सरकार रुपये गिरने के मामले में क्या कर सकती है।
जी वही जो नेताओं के कैरेक्टर गिरने के मामले में कर सकती है।
यानी कुछ खास नहीं। गिरता हुआ देख सकती है। कर कुछ नहीं सकती। विश्व करेंसी बाजार में डॉलर का हाल खूसट सास या मजबूत पहलवान जैसा है। खूसट सास की तरह डॉलर तमाम मुद्राओं में लड़ाई-झगड़े करवाता है औऱ तमाशा देखता है। डॉलर पहलवान की तरह डटा रहता है, बाकी की मुद्राएं इधर-उधर रपटती-गिरती रहती हैं। वैसे डॉलर को ज्यादा भाव भी नहीं खाना चाहिए। डॉलर मजबूत होगा, बहुत मजबूत होगा, हमारे इंडिया में तो डॉलर बनियान का ब्रांड है, जिसे अक्षय कुमार चाहे जब उतारकर फेंक देते हैं। इंडिया वाले डॉलर को बनियान बना देते हैं और लालकिले को बासमती चावल का ब्रांड। ताजमहल यहां चाय के डिब्बे की शक्ल में कई बार कूड़ेदान में नजर आता है।
डॉलर ब्रांड बनियान बनकर अक्षय कुमार की कमाई करवा रहा है। आफत यही है कि डॉलर यहां भी पहले से ही मजबूतों की कमाई करवाता है। अक्षय कुमार डॉलर के इश्तिहार की फीस कई लाख रुपये लेते हैं। अक्षय कुमार डॉलर पहनकर जो बताते हैं, उसका आशय़ यह है कि तमाम ताकत का राज डॉलर बनियान में निहित है। बाकी आम इनसानों को वैसी ताकत हासिल करने के लिए मेहनत करनी पड़ेगी। एक्सरसाइज करनी पड़ेगी। खाने-पीने का सही हिसाब रखना पड़ेगा। पर अक्षय कुमार के लिए सिर्फ डॉलर बनियान पहनना ही काफी है। बड़े आदमी के जलवे होते हैं, अक्षय कुमार डॉलर पहनने के पैसे लेते हैं।
बाकी जिस गरीब को डॉलर बनियान की जरूरत हो वह बता सकता है कि उसकी बनियान तो वह बिल्डर उतार कर ले गया है, जिसका इश्तिहार कुछ साल पहले क्रिकेटर धोनी किया करते थे। धोनी ने जिस बिल्डर का इश्तिहार किया था, वह लाखों की रकम लेकर बैठ गया है। अक्षय कुमार दयालु हैं, बनियान मजबूत न निकले तो कुछेक सौ रुपये पर ही बीतेगी।
डॉलर अगर अक्षय कुमार के पहनने से मजबूत होता है तो फिर अक्षय कुमार रुपये को भी पहन लें, रुपया भी मजबूत हो जायेगा। राष्ट्र हित में रुपये का बनियान ब्रांड लांच किया जाना जरूरी है।

LEAVE A REPLY