डोकलाम में अभी तक मौजूद हैं चीनी सैनिक: राहुल

0
8

लंदन। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ब्रिटेन के लंदन स्थित इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्ट्रैटेजिक स्टडीज में बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर डोकलाम विवाद के बहाने निशाना साधा है। राहुल गांधी ने यहां पर एक चर्चा के दौरान दावा किया है कि आज भी डोकलाम में चीनी सैनिक मौजूद हैं। उनका कहना था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसे रोक सकते थे अगर वह स्थिति पर सावधानी से नजर रखते। आपको बता दें कि पिछले वर्ष डोकलाम में जून माह में भारत और चीन के बीच विवाद पैदा हो गया था। दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने थीं और ७३ दिन बाद जाकर यानी अगस्त २०१७ में यह विवाद खत्म हो सका था।
राहुल ने लंदन स्थित इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्ट्रैटेजिक स्टडीज में बोलते हुए कहा, डोकलाम इकलौता विवाद नहीं है बल्कि यह एक के बाद एक हुई कई घटनाओं का हिस्सा था, यह एक प्रक्रिया थी। राहुल ने कहा कि पीएम मोदी ने डोकलाम को एक घटना के तौर पर देखा। अगर वह इस प्रक्रिया पर सावधानी से नजर रखते तो इसे रोक सकते थे। राहुल ने आगे कहा सरकार डोकलाम पर तथ्यों के छिपा रही थी। राहुल की मानें तो इस दौरान जो शब्द प्रयोग किए गए थे वे काफी रोचक थे। उन्होंने कहा, श्सरकार ने कहा चीन संपर्क बिंदु से पीछे हट गया है, चीनी सैनिक उस जगह से पीछे हट गए हैं जहां पर झगड़ा हुआ था। जबकि हकीकत यह है चीनी सैनिक आज भी डोकलाम में मौजूद है। उन्होंने आगे कहा कि अगर भारत ने पूरे दम से इसका जवाब दिया होता तो फिर डोकलाम नहीं होता।
डोकलाम रणनीतिक तौर पर काफी अहमियत रखता है और इस पर भूटान अपना दावा जताता है। चीनी सैनिकों की ओर से इस हिस्से पर सड़क निर्माण के बाद यहां पर विवाद शुरू हुआ। इस विवाद की वजह से ७३ दिनों तक भारत और चीन के सैनिक आमने-सामने थे। भारत हमेशा इस इलाके को सुरक्षा के लिहाज से काफी संवेदनशील मानता है क्योंकि यहां पर चीन की पहुंच काफी आसान है। डोकलाम में चीनी सैनिकों की मौजूदगी चिकेन्स नेक को आसानी से निशाना बनाने के लिए काफी है।

LEAVE A REPLY