केरल में पानी उतरने के बाद अब घरों में दिख रहा है कीचड़ और मलबे का ढेर

0
4

नई दिल्ली। १०० सालों की सबसे बड़ी बाढ़ की मार झेल रहे केरल में बचाव का काम पूरा हो गया है। पानी घटने के बाद जब लोग अपने घरों की ओर लौट रहे हैं तो वहां उनका सामना नई मुसीबत से हो रहा है। कुछ लोग जब अपने घर लौटे तो वहां उनका सामना सांप-बिच्छू और यहां तक कि मगरमच्छों तक से हुआ। बाढ़ की वजह से १५ अगस्त से बंद कोच्चि एयरपोर्ट को २६ अगस्त से शुरू करने की कोशिश चल रही है। ये दुनिया का इकलौता एयरपोर्ट है जो सोलर एनर्जी से चलता है। बाढ़ की वजह से सोलर पैनल्स को भी नुकसान पहुंचा है। फ़िलहाल नेवल एयरबेस से यात्री उड़ानें आ-जा रही हैं। यूएई ने भारी बारिश और बाढ़ से तबाह हुए केरल की मदद के लिए ७०० करोड़ रुपये देने की पेशकश की है। इसके लिए केंद्र सरकार की मंज़ूरी ज़रूरी होगी। हालांकि इस बात के आसार कम हैं कि भारत यूएई की मदद ले। केरल सरकार का कहना है कि हमने केंद्र से २००० करोड़ रुपये की मदद मांगी थी, लेकिन हमें सिर्फ़ ६०० करोड़ रुपये मिला। ऐसे में मुझे नहीं लगता कि केंद्र सरकार यूएई की मदद स्वीकारने से इनकार करेगा। इसकी कोई वजह नहीं है। केरल और यूएई का लंबा और गहरा नाता है।

LEAVE A REPLY