पालिका टैण्डर घोटाले में शासन ने दिये जाँच के निर्देश: नेगी

0
9

हमारे संवाददाता
देहरादून। नगरपालिका परिषद, विकासनगर देहरादून ने वर्ष 2017-18 में अपने चहेते ठेकेदारों से सांठ-गांठ कर 2-38 करोड के 50 टेण्डर मात्र 0-10 फीसदी न्यूनतम दर पर स्वीकृत कर सरकार को लगभग 60-70 लाख का चूना लगा दिया था। जिस मामले पर जन संघर्ष मोर्चा द्वारा शासन से जांच की मांग की गयी थी। जिसे शासन द्वारा मान लिया गया है।
स्थानीय होटल में पत्रकार वार्ता के दौरान यह बात जन सघर्ष मोर्चा के अध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने कही। उन्होने कहा कि पालिका द्वारा जो 50 टैण्डर्स स्वीकृत कर लिये गये थे उनसे सरकार को नुकसान हुआ था। पालिका द्वारा अगर ईमानदारी से टैण्डर प्रक्रिया अपनायी जाती तो पालिका/सरकार को लगभग 60-70 लाख का फायदा होता। नेगी ने कहा कि इन स्वीकृत निविदाओं में से अधिाकांश निविदाओं के कार्यदेश भी पालिका द्वारा जारी किये जा चुके थे तथा लगभग 40ः टैण्डर एक ही ठेकेदार के नाम स्वीकृत हुए थे। जिसमें लाखों का हेर फेर व सांठगांठ की गयी थी। जिसके चलते सरकार को लाखों की चपत लगी थी। मोर्चा द्वारा यह मामला उठाये जानेे के बाद शासन ने इसमें जांच के आदेश दिये है।

LEAVE A REPLY