वाजपेयी की राजनीति अभूतपूर्व थी : पाकिस्तानी अखबार

0
13

कराची। पाकिस्तान के साथ तनावपूर्ण संबंधों को सुधारने में दिवंगत भारतीय पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के प्रयासों में उनके महान साहस और ²ष्टि की प्रशंसा करते हुए कराची के एक दैनिक अखबार ने शनिवार को कहा है कि भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनकी राजनीति का अनुसरण करना चाहिए, जो कि दक्षिण एशिया में अभूतपूर्व थी। डॉन अखबार ने शनिवार के अपने संपादकीय में कहा है, वाजपेयी ने निर्विवाद रूप से पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के निमंत्रण पर पाकिस्तान की बस से यात्रा कर महान साहस और ²ष्टि का परिचय दिया था। परमाणु हथियार संपन्न प्रतिद्वंद्वियों के बीच संबंधों को सामान्य करने के लिए फरवरी 1999 में दो प्रधानमंत्रियों के बीच हस्ताक्षरित लाहौर घोषणा-पत्र पिछले दो दशकों के दौरान एक उच्च अवस्था रही है। अखबार ने कहा है, ऐसी आशा थी कि भाजपा और भारत वाजपेयी के पाकिस्तान पथ पर लौट सकते हैं। दैनिक ने कहा है कि भारत की राजनीतिक वाजपेयी के कद वाले एक सच्चे राजनेता और राष्ट्रीय नेता को पैदा करने के लिए संघर्ष कर रहा है। क्योंकि वाजपेयी ने राजनीतिक कौशल और संगठन के साथ एक दुर्जेय बुद्धि को जोड़कर राजनीतिक मुख्यधारा को व्यापक किया था। दैनिक ने कहा है, वाजपेयी ने एक ऐसी राजनीति का प्रतिनिधित्व किया, जिसके उदाहरण उनके पहले देखने को नहीं मिले थे। अखबार ने कहा है कि मई 1998 में पांच परमाणु परीक्षण करने के प्रधानमंत्री वाजपेयी के निर्णय को कोई शांति समर्थक समर्थन नहीं कर सकता।

LEAVE A REPLY