भारतीय घरों की किचन का कपड़ा सबसे ज्यादा गंदा

0
5

नई दिल्ली । एक ताजे शोध में बताया गया है कि भारत में रहने वाले लोगों के घरों में किचन का कपड़ा सबसे ज्यादा गंदा होता है। यह घर में कीटाणुओं को दावत देता है। एक शोध में बताया गया है कि भारत में 100 प्रतिशत किचन के कपड़े सबसे ज्यादा गंदे होते हैं और यह भारतीय घरों में पाई जाने वाली सबसे गंदी चीज है। हाल में एक रिसर्च में यह बात सामने आई थी कि किचन में बार-बार एक ही कपड़े का इस्तेमाल करने से परिवार के सदस्यों को फ़ूड पॉइजनग होने का खतरा रहता है।
यूनिवसटी ऑफ़ मॉरीशस के वैज्ञानिकों ने एक महीने के दौरान एक एक्सपेरिमेंट किया और किचन में इस्तेमाल होने वाले 100 तौलिए पर बैक्टीरिया के पनपने की जांच की। इस दौरान रिसर्चर्स ने पाया कि 100 में से 49 तौलिए में कॉलिफ़ॉर्म्स पाए गए जो फ़ेमस ई-कोलाइ बैक्टीरिया के परिवार के सदस्य हैं। रिसर्च में यह बात भी सामने आई कि किचन में इस्तेमाल होने वाले वैसे कपड़ों में ई-कोलाइ के पनपने की संभावना ज्यादा थी जिन्हें गीला छोड़ दिया जाता है, जबकि कॉलिफ़ॉर्म्स और एस ओरियस बैक्टीरिया उन कपड़ों में ज्यादा पाया गया जिन घरों में नॉन-वेज खाना ज्यादा बनता है। यह भी पता चला कि 98 फ़ीसदी भारतीय अपने घर में उपस्थित कीटाणुओं और उनसे होने वाले खतरों के बारे में जानते हैं।62 फ़ीसदी लोग कीटाणुओं के बारे में Çचतित तो हैं लेकिन वे अपने परिवारों की रक्षा के लिए कीटाणुनाशक समाधान नहीं चाहते हैं और 42 फ़ीसदी घर में कई सतहों पर कीटाणुओं को खत्म करने के लिए फि़नाइल और डिटर्जेंट का उपयोग करते हैं। अनुसंधानकर्ताओं का कहना है कि बहुत से किचन तोलिए में ई-कोलाइ की मौजूदगी मल के प्रदूषण से आयी होगी जो इस बात को दिखाता है कि बड़े पैमाने पर किचन में सही ढंग से साफ़-सफ़ाई का ध्यान नहीं रखा जाता है।

LEAVE A REPLY