राजधानी दून की सड़कें खस्ताहाल

0
17

बारिश से सड़कों पर बने गहरे गड्ढे
अतिक्रमण के मलवे से बढ़ी परेशानी

देहरादून। बीते एक पखवाडे से राजधानी में हो रही ताबडतोड़ बारिश से सड़कों की स्थिति खस्ताहाल हो चुकी है। सड़कों पर बने गहरे गड्ढे हादसों को निमंत्रण दे रहे हैं लेकिन इनकी मरम्मत की खबर लेने वाला कोई नही है।

पिछले एक माह से राजधानी देहरादून की प्रमुख सड़कों पर अतिक्रमण हटाइओं अभियान चलाया जा रहा है जिसके चलते जलनिकासी के लिए बनी नालियां या तो तोड़ दी गयी है या फिर वह अतिक्रमण के मलवे से ढ़क चुकी हैं जिसके कारण बारिश का पानी सड़कों से बह रहा है जहां भी सडक में कोई छोटा मोटा गढड़ा होता है तो वह देखते ही देखते बहुत बड़ा व गहरा बन जाता है। राजधानी दून की तमाम सड़कों पर इस तरह के गढडों की भरमार है। बरसात के समय पानी भरा होने के कारण यह गढडे दिखाई नही देते हैं जो दुर्घटनाओं का कारण बन रहे हैं।
बीते समय में कुछ क्षेत्रें की सड़कों में सीवर लाइनों के लिए खुदाई का काम किया गया था जिसे कच्ची मिट्टी से भरकर दिखावे भर के लिए समतल कर दिया गया था। बरसात में मिट्टी बैठने से अब इन सड़कों में गहरे गढडे बन गयें हैं। करनपुर क्षेत्र की सड़कें इसका एक उदाहरण हैं। नेहरूग्राम क्षेत्र की सड़क पर बना गढडा लोगों के लिए मुसीबत का सबब बना हुआ है।
जिन क्षेत्रें में फ्रलाईओवर निर्माण का कार्य चल रहा है वहां स्थिति और भी अधिक दयनीय है। अस्थायी रूप से बनाई गयी सड़काें पर पडी मिट्टी गारा बन चुकी है जिसके कारण लोगों को इन सड़कों पर आने जाने में भारी मुश्किलें उठानी पड़ रही हैं। खास बात यह है कि सड़कों पर बने गडढे दिनों दिन बढ़ते ही जा रहे हैं जिन्हें भरने का काम लोकनिर्माण विभाग द्वारा नही किया जा रहा है बरसात के मौसम में इन सड़कों की मरम्मत भले ही मुश्किल काम हो लेकिन गडढों को भरने का पेंचवर्क तो किया ही जा सकता है जिससे हादसों की संभावनाएं कम हो सकती हैं।

LEAVE A REPLY