सीएम ने की आपदा प्रबंधन की समीक्षा

0
12

आपदा प्रभावितों की मदद के निर्देश

देहरादून। बीते दो सप्ताह से देवभूमि में हो रही ताबड़तोड़ बारिश के कारण भले ही लोगों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड रहा हो लेकिन सरकार अपने आपदा प्रबंधन के कामों से संतुष्ट नजर आ रही है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने आज आपदा प्रभावित जनपदों के जिलाधिकारियों से लिए गए फीडबैक के बाद यह कहना कि आपदा प्रभावितों की मदद कर रेस्पांस टाइम ठीक ठाक है कुछ एक दो घटनाओं को छोडकर आपदा प्रभावितों की मदद पूरी मुश्तैदी के साथ की जा रही हैै, से तो यही लगता है कि सूबे में सब कुछ ठीक ठाक है लेकिन जमीनीं हकीकत इससे कहीें अलग दिखाइगर्् देती है अब अधिकारी मुख्यमंत्री को गुमराह कर रहे हैं या मुख्यमंत्री हकीकत से मुंह चुरा रहे हैं यह अलग बात है।
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने आज आपदा प्रभावित जिलों जिसमें उत्तरकाशी , चमोली, पौडी, अल्मोडा, पिथौरागढ़ तथा बागेश्वर व रूद्रप्रयाग शामिल हैेैं आदि जिलों के जिलाधिकारियों से आपदा प्रभावितोें को दिए जाने वाले मुआवजे व राहत सामग्री तथा सड़कों की स्थिति पर जानकारी ली गयी। यहां यह उल्लेख नही है कि यमुनोत्री राजमार्ग भूस्खलन के कारण पिछले 9 दिनों से बंद है तथा संपर्क मार्ग भी अत्यंत खतरनाक स्थिति में है। राज्य में बीस पुल और पुलिया टूट चुकें हैं, 200 से अधिक सड़कें बंद पडी हैं दर्जनों गांवाें का संपर्क टूटा हुआ है हजारों आपदा पीडि़त टेंटों में जीवन गुजार रहे हैं लेकिन शासन प्रशासन की नजर मेेें सब कुछ ठीक ठाक है। आपदा प्रभावितों की मदद को सरकार ने भले ही पांच पांच करोड़ हर जिले को जारी कर लिए हों लेकिन आपदा प्रभावितों तक कितनी मदद पहुंच रही है यह देखने वाला कोई नही।

आपदा पीडि़त छात्रा को नहीं मिला इलाज 

हल्द्वानी। पिथौरागढ़ की बारहवीें की छात्र प्रियंका जो स्कूल से घर लौटते वक्त भूस्खलन की चपेट में आकर घायल हो गयी थी को न तो पिथौरागढ़ में इलाज मिल सका और न हल्द्वानी के सरकारी अस्पताल मेें, जिसके कारण अब प्रियंका के अभिभावकों द्वारा उसे एक निजी अस्पताल में भर्ती कराना पडा है।
प्रियंका के सर में लगी गंभीर चोटों के कारण उसकी स्थिति अत्यंत गंभीर बनी हुई है जिसका इलाज विवेकानंद अस्पताल में चल रहा हैै। सरकारी अस्पताल में न्यूरोलॉजिस्ट न होनेे के कारण परिजनों ने अब मजबूरी में उसे प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया है। प्रियंका के सर में कई फ्रैक्चर हैं लेकिन अब तक उसके पास कोई सरकारी मदद नही पहुंच सकी है।

LEAVE A REPLY