गरीब नवाज के दरबार में गरीबों पर सितम

0
126

देहरादून। राजपुर रोड स्थित सांई मंदिर ट्रस्ट से जुडे़ लोग यहां के गरीब फूल और प्रसाद बेचने वालों को नाहक परेशान कर रहे हैं। उनकी दुकानों और ठेलियों के सामने बदबूदार कूडे़दान रखकर उन्हें परेशान किया जा रहा है जिससे वह अपना काम धंधा समेटकर भाग जाएं। इस पूरे विवाद की जड़ में सांई मंदिर परिसर में नगर निगम की जमीन पर बनाए गए वह कमरे हैं जिन्हें नगर निगम ने ट्रस्ट के अधिकार से छीनकर अपने कब्जे में ले लिया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार राजपुर रोड स्थित सांई मंदिर ट्रस्ट द्वारा नगर निगम की जमीन पर अवैध रूप से कुछ कमरे बना लिए गए थे। जिनसे ट्रस्ट के लोग किराया वसूल रहे थे। लेकिन नगर निगम ने इन कमरों के अब अपने कब्जें में ले लिया है। इन कमरों में रहने वाले लोग जब ट्रस्ट के बजाय नगर निगम को किराया देने लगे तो यह ट्रस्ट के लोगों को नाकवार गुजरने लगा और उन्होंने इन कमरे में रहने वाले लोगों को परेशान करना शुरू कर दिया।
अभी बीते दिनों ट्रस्ट के लोगों द्वारा नगर निगम से इसके किराए का टेण्डर अपने ही किसी व्यक्ति को दिला दिया गया था। जिसके द्वारा निगम को किराया जमा नहीं करायाा गया। जब दस लाख रूपये किराया निगम की देनदारी हो गई थी तो नगर निगम ने अपना किराया वसूलने की पहल की। तब पता चला कि जिसके नाम टेण्डर था वह व्यक्ति गायब हो चुका है। इस बीच ट्रस्ट के लोग ही किराया वसूलते रहे। लेकिन यह किराया निगम में जमा नहीं कराया गया था लेकिन अब ट्रस्ट के लोग कह रहे हैं कि किराया वह देगा। जिसके नाम टेण्डर था। निगम प्रशासन द्वारा इस विवाद के बाद एक फ्रलैट को सीज भी कर दिया है। नगर निगम और ट्रस्ट के लोगों के बीच इस सम्पत्ति के किराये को लेकर लम्बे समय से खींचतान जारी है लेकिन अब इस खीचतान में ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने यहां रह रहे लोगों और फूल प्रसाद बेचकर अपना गुजारा करने वाले लोगों को परेशान करना शुरू कर दिया है। दरअसल नगर निगम प्रशासन के सामने तो ट्रस्ट के लोग लाचार हैं लेकिन अब वह अपनी खीज गरीबों पर निकालकर उन्हें परेशान कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY