पांच दिन में भी नहीं खुला यमुनोत्री मार्ग

0
15

देहरादून। उत्तराखण्ड में बारिश का कहर जारी है। बारिश के कारण जगह-जगह हो रहे भूस्खलन के कारण राज्य के सबसे अधिक सड़क मार्ग अवरूद्ध हो गए हैं। एनएच -94 पर डबरकोट के पास पहाड़ खिसकने से यमुनोत्री राजमार्ग बीते पांच दिनों से बंद पड़ा है। स्याना चट्टी के पास 17 वाहन पिछले पांच दिनों से फंसे हुए हैं। जिन्हें अभी तक नहीं निकाला गया है।
मौसम विभाग के अनुसार राज्य में 27 जुलाई तक भारी बारिश की संभावनाएं जताई गई हैं। पिछले कई दिनों से उत्तरकाशी, पिथौरागढ़, चमोली, नैनीताल, ऊधमसिंह नगर तथा नंद प्रयाग में बारिश का क्रम जारी है। पिथौरागढ़ के टनकपुर पिथौरागढ़ मार्ग पर अमरू बैण्ड के पास पहाड़ी से लगातार मलबा गिर रहा है। जिसके कारण सड़क पर आवाजाही अवरूद्ध हो गयी है। उत्तरकाशी के स्याना चट्टी में पहाड़ी से लगातार बोल्डर गिर रहे हैं। जिसके कारण यातायात बंद है और यमुनोत्री जाने वाले यात्रियों को वैकल्पिक मार्ग से भेजा जा रहा है। इस मार्ग पर भी यात्रियों को झरने से आ रहे कमर तक पानी से होकर गुजरना पड़ रहा है। उधर, कैलाश मानसरोवर यात्र को बारिश के कारण एक बार फिर रोकना पड़ रहा है। कैलाश मानसरोवर यात्रियों का नौवां दल पिथौरागढ़, दशवादल चौकोड़ी और 11वें दल को फिलहाल अल्मोड़ा में रोक दिया गया है। पूरे प्रदेश में हो रही बारिश के कारण राज्य की साठ से अधिक सड़कें बाधित हो गई हैं। जिसमें कारण लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। राज्य का आपदा प्रबंधन विभाग हाई अलर्ट पर है। तथा राज्य के नौ जिलों के अधिकारियों को सतर्क रहने की चेतावनी जारी की गई है।

LEAVE A REPLY