कुछ फिल्मों से सिर्फ इसलिए निकाला गया क्योंकि मेरा कोई गॉडफादर नहीं: तापसी पन्नू

0
4

तापसी पन्नू का कहना है कि उन्हें कई फिल्मों से सिर्फ इसलिए बदल या निकाल दिया गया क्योंकि उनके नाम के साथ किसी बड़े बॉलीवड स्टार या निर्माता, निर्देशक का नाम नहीं जुड़ा है. तापसी का मानना है कि कई फिल्मों से उनके निकाले जाने या उन्हे रिप्लेस किये जाने की वजह यही थी कि तापसी का फिल्म इंडस्ट्री में कोई गॉडफादर नहीं है. 3० साल की इस अदाकारा ने कहा, हालांकि मेरे अभिनय क्षमता को लेकर अगर किसी ने मुझे नकारा है तो मैं उस रिजेक्शन का भी सम्मान करती हूं.
तापसी ने कहा, जिस हाथ से मैं खुद को शाबाशी देती हूं उसी हाथ से खुद को संभालती भी हूं जब मुझे एक्टिंग नहीं, दूसरी वजहों के चलते किसी फिल्म से बाहर का रास्ता दिखा दिया जाता है.
हाल ही में फिल्म सूरमा मे नजऱ आई तापसी ने एक इंटरव्यू में बताया, कोई फिल्म मेरे हाथ से चले जाना मेरे लिए हैरान करने वाला नहीं होता. मैं जानती हूं कि मुझे फिल्म से मेरी एक्टिंग की वजह से नहीं बल्कि इसलिए निकाला गया क्योंकि में अलाने-फलाने की बेटी-बहन नहीं हूं या मैं किसी सुपरस्टार को डेट नहीं कर रही हूं.
मुझे रिप्लेस किया गया लेकिन धीरे धीरे मैं ऐसे ज़ोन की तरफ बढ़ रही हूं जहां कोई मुझे रिप्लेस नहीं कर सकेगा. यहीं मेरा उद्देश्य है. मैं इस इंडस्ट्री के लोगों के मुंह से सुनना चाहती हूं कि वो कोई फिल्म तभी बना पाएंगे जब मैं उसमें काम करुंगी और दर्शकों को भी मेरा काम पसंद आए. उस दिन मैं सफल हो जाऊंगी. तापसी दृढ़ता के साथ इस बात को कहती हैं.
बाहरी होने के चलते आपको डर लगता रहता है. आप जानते हैं कि आपकी एक गलती आपको बाहर का रास्ता दिखा सकती है, यहां मुझे बार बार मौका देने वाला कोई नहीं बैठा है. अगर मेरी दो तीन फिल्में नहीं चली तो लोग मुझे बाहर कर देंगे और मुझे ये पता है. मैं इसके लिए असुरक्षित महसूस करती हूं लेकिन इसे मैंने स्वीकार भी किया है और इसके लिए मैं मेहनत कर रही हूं.
तापसी ने पिंक, नाम शबाना और बेबी जैसी फिल्मों में अपनी एक्टिंग का लोहा मनवाया है. अपने आप को एक नौसिखिया अभिनेता मानने वाली तापसी ने कहा कि वो ऑडिशन नहीं क्लियर कर पातीं क्योंकि वो अनरियल सिचुएशन में अभिनय नहीं कर पाती हैं. कोई आपको कैमरा देख कर अभिनय करने के लिए कह रहा है ये मेरे लिए थोड़ा मुश्किल हो जाता है.
जिस दिन मैं पहली बार फिल्मों में आई थी तो मुझे लगा था कि मैं 1० सालों से ज्यादा फिल्मों में नहीं टिक पाउंगी लेकिन अब लगता है कि बात बन जाएगी. तापसी ने अपने करियर की शुरुआत 2०1० में तेलेगु फिल्म झुमांदी नादम से की थी और इसके बाद 2०11 में वो तमिल फिल्म आदुकलम से अपना लीड डेब्यू कर चर्चा में आई थीं. बॉलीवुड में तापसी की पहली फिल्म साल 2०13 में चश्मे बद्दूर रही और हाल ही में वो सूरमा में दिलजीत के अपोजि़ट नजऱ आईं.

LEAVE A REPLY