हड़ताल से यात्री हलकान

0
52

देहरादून। ट्रांसपोर्टरों की देश व्यापी हड़ताल के चलते राजधानी देहरादून सहित पूरे उत्तराखण्ड में इसका व्यापक असर देखा गया। सिटी बस, टैक्सी-मैक्सी, ऑटो और स्कूल बसों की यूनियनों द्वारा हड़ताल को समर्थन दिए जाने से यात्री और पर्यटकों को आज भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ा।
डीजल को जीएसटी के दायरे में लाकर कीमतें कम करने व एमवी एक्ट में संशोधन को वापस लिए जाने सहित अपनी छह सूत्रीय मांगों को लेकर ऑल इण्डिया मोटर ट्रांसपोर्ट यूनियन की हड़ताल को सिटी बस, टैक्सी-मैक्सी व आटो तथा स्कूल बसों के समर्थन दिए जाने के कारण स्थानीय लोगों और पर्यटकों को भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ा।
राजधानी देहरादून में पब्लिक ट्रांसपोर्ट सेवा पूरी तरह ठप रहने के कारण लोगों को अपनी ड्यूटी तक समय पर पहुंचने में परेशानी उठानी पड़ी। वहीं स्कूल वैन और स्कूल बसों का संचालन बंद होने की वजह से कई स्कूलों को छुट्टी करनी पड़ी तथा कई स्कूलों में छात्रें की संख्या कम रही।
राज्य के पर्वतीय क्षेत्रें में आने-जाने वाले पर्यटकों को वाहन न मिलने के कारण मुश्किलों का सामना करना पड़ा। इन मार्गों पर बसों और मैक्सी के अलावा कोई साधन नहीं हैं, वहां पर्यटकों की भीड़ लगी रही। एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाने के लिए लोगों को पैदल परेड करनी पड़ी। मसूरी में भी टैक्सी यूनियन के पदाधिकारियों ने प्रदर्शन किया और टैक्सियां नहीं चलाईं जिससे पर्यटकों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। प्रदेश भर में हुई आज इस हड़ताल के कारण 100 करोड़ से अधिक का कारोबार प्रभावित हुआ है।

LEAVE A REPLY