सुनीता रावत के शैक्षिक प्रमाण पत्रों की हो जांच: शर्मा

0
10

देहरादून। शिक्षिका श्रीमती सुनीता रावत जिनकी वर्तमान पोस्टिंग पूर्व माध्यमिक विद्यालय अजबपुर कला देहरादून में हैं, के शैक्षिक प्रमाण पत्रों पर सवाल उठाते हुए सोशल मीडिया एक्टिविस्ट सुभाष शर्मा ने आज यहां एक पत्रकार वार्ता में कहा कि राज्य में चल रहे प्रमाण पत्रों के जांच अभियान के तहत उनके भी प्रमाण पत्रों की भी जांच कराई जाए।
सुभाष शर्मा का कहना है कि उक्त शिक्षिका सुनीता रावत के प्रमाणपत्रों के बारे में लोग सूचना अधिकारी रायपुर देहरादून से सूचना के अधिकार अधिनियम के तहत जानकारी मांगी गयी थी। लेकिन विभाग द्वारा इसे सूचना के अधिकार अधिनियम 2005 की धारा 8(श्र) के अनुसार प्रकट न करने की बाध्यता बताते हुए अनुरोधकर्ता को सूचना नहीं दी गई है। सुभाष शर्मा ने पत्रकार वार्ता में कहा कि उन्होंने कहा कि इस बाबत उपमहानिरीक्षक गढ़वाल मण्डल को पत्र लिखकर मांग की है कि सुनीता रावत के शैक्षिक प्रमाण पत्रों की जांच की जाए। उनका कहना है कि मेरी पुष्ट जानकारी के अनुसार सुनीता रावत के शैक्षिक प्रमाण पत्र मान्य नहीं हैं और वह फर्जी प्रमाण पत्रों के आधार पर सरकारी नौकरी कर रही हैं। उन्होंने कहा कि वह फर्जी प्रमाणपत्रों से नौकरी पाने वालों के खिलाफ चलाए जा रहे सत्यापन अभियान का स्वागत करते हैं। उन्होंने मांग की कि उक्त शिक्षिका के प्रमाण पत्रें की जांच कर उनके खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई की जाए, और दोषी पाए जाने पर वेतन भत्ते के रूप में दिए गए लाभ को मय ब्याज के वसूला जाए।

LEAVE A REPLY