विरोध व बारिश ने लगाया अतिक्रमण अभियान पर ब्रेक

0
622

देहरादून। प्रेम नगर में प्रशासन द्वारा बीते कल मुनादी कराने के बावजूद भी आज अतिक्रमण के खिलाफ ध्वस्तीकरण की कार्रवाई नहीं की जा सकी। स्थानीय व्यापारियों ने प्रशासन की अतिक्रमण हटाओं अभियान के विरोध में आज भी धरना प्रदर्शन किया। वहीं कुछ लोगों द्वारा खुद ही अतिक्रमण हटाने का काम किया गया।
उल्लेखनीय है कि 18 जून को हाईकोर्ट द्वारा मुख्य सचिव को दिए गए दिशा निर्देशों को 28 जून से राजधानी दून में शुरू हुआ अतिक्रमण हटाओ अभियान बार-बार बाधित हो रहा है। प्रेमनगर क्षेत्र में अतिक्रमण हटाने को लेकर पिछले कई दिनों से प्रशासन और स्थानीय व्यापारियों और नेताओं के बीच रस्साकशी जारी है। अतिक्रमण हटाओ अभियान टीम द्वारा व्यापारियों को तीन दिन का समय अपना सामान खाली करने के लिए दिया गया था लेकिन व्यापारी इसका विरोध करते हुए तीन महीने का समय मांग रहे थे। व्यापारियों ने कल मुख्यमंत्री से मिलकर भी प्रशासन की कार्रवाई पर आपत्ति जताते हुए समय बढ़ाने की मांग की थी। हालांकि कल प्रशासन ने शाम को ही क्षेत्र में मुनादी करा दी थी कि आज सुबह से अतिक्रमण हटाने का काम शुरू कर दिया जाएगा। तथा इस दौरान रूट डायवर्ट कर नया टैªफिक प्लान भी घोषित कर दिया गया था। लेकिन आज सुबह प्रशासनिक अमला क्षेत्र में अतिक्रमण ध्वस्तीकरण के लिए नहीं पहुंचा। प्रशासन हालांकि पर्याप्त फोर्स उपलब्ध न होना इसका कारण बता रहा है। लेकिन सूत्रें से मिली जानकारी के अनुसार प्रशासन को इस काम पर ब्रेक स्थानीय नेताओं और व्यापारियों के विरोध के कारण लगाना पड़ा है। ऐसी भी चर्चा है। वहीं कुछ लोगों ने क्षेत्र में स्वयं ही अतिक्रमण हटाने का काम जारी रखा है। स्थानीय नेताओं ने आज भी प्रशासन की कार्रवाई के विरोध में कुछ समय के लिए धरना प्रदर्शन किया। इसमें विधायक खजानदास भी पहुंचे, लेकिन क्षेत्र में प्रशासनिक अमले द्वारा आज भी ध्वस्तीकरण का काम नहीं किया जा सकता।

LEAVE A REPLY