अतिक्रमण : आज लगाए लाल निशान, ध्वस्तीकरण कल

0
6

देहरादून। हाईकोर्ट द्वारा राजधानी देहरादून से अतिक्रमण हटाने के लिए दिए गए सख्त निर्देशों के एक सप्ताह बाद प्रशासन ने आज अतिक्रमण हटाओ महाभियान की शुरूआत कर दी है।
राजधानी में अतिक्रमण हटाने के लिए आज से महाभियान की शुरूआत हो चुकी है। अतिक्रमण के चिन्हीकरण का काम आज सुबह से ही शुरू हो गया था। प्रशासनिक अमला आज लाल निशान लगाने में जुटा हुआ है। इसके लिए चार टीमें बनाई गई हैं। जो सभी अलग-अलग चार जोन में अतिक्रमण के चिन्हीकरण का कार्य कर रही हैं। पहले दौर में राजधानी के चार प्रमुख राजमार्गों से अतिक्रमण हटाए जाने का निर्णय लिया गया है। जिसके तहत आज हरिद्वार रोड, सहारनपुर रोड तथा राजपुर रोड और चकराता रोड पर अवैध अतिक्रमण को चिन्हित करने का काम किया जा रहा है। इस काम के लिए एक नोडल एजेंसी बनाई गई है। जिसमें चार टीमें चिन्हींकरण कार्य में लगी हुई हैं तथा ध्वस्तीकरण कार्य के लिए भी चार टीमों का गठन किया गया है। जो अलग-अलग क्षेत्रें में काम करेंगे। पूर्व चिन्हित अवैध अतिक्रमण करने वालों को 26 जून को नोटिस भेजे जा चुके हैं। जिन्हें सभी को 24 घंटे का समय दिया गया था आज सुबह पूरा हो चुका है। लेकिन वीआईपी दौरे के कारण यह काम एक दिन के विलंब से कल सुबह आठ बजे से शुरू होगा।
अतिक्रमण हटाओ महाभियान के दौरान राजधानी क्षेत्र के प्रमुख मार्गों एवं बाजारों के अलावा 129 मलिन बस्तियों में यह अभियान चलाया जाना है। मजिस्टेªट पीसी श्रीवास्तव का कहना है कि पहले चरण में प्रमुख सड़क मार्गों को अतिक्रमण हटाया जाएगा। जबकि दूसरे चरण में बाजारों से अतिक्रमण हटाने की योजना है। मलिन बस्तियों से अतिक्रमण हटाने का काम सबसे बाद में किया जाएगा। क्योंकि इन बस्तियों के पुनर्वास की भी समस्या है।
हाई कोर्ट द्वारा शासन-प्रशासन को इस बडे़ काम के लिए सिर्फ चार सप्ताह का समय दिया गया है। जिसे लेकर प्रशासनिक अधिकारियों की भी हवाईयां उड़ी हुई हैं। हालांकि इस काम में प्रशासन एमडीडीए, नगर निगम, लोक निर्माण विभाग, राजस्व विभाग, सिंचाई विभाग व पुलिस विभाग के कर्मचारी लगे हुए हैं। लेकिन काम के बृहद दायरे को देखते हुए यह कोई आसान चुनौती नहीं है। इस पूरे अभियान से 40 हजार से अधिक परिवारों के प्रभावित होने की संभावना जताई गई है।

LEAVE A REPLY