धुंध और धुल के गुबार से लोग परेशान

0
15

देहरादून। देश के मैदानी भागों में धूल भरी आंधियों के कारण उत्तराखण्ड के आसमान पर भी धुंध छा गई है। जिसके कारण लोगों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। खासतौर पर सांस और हृदय रोग से पीढि़त लोगों के लिए यह धुंध भरा मौसम जान लेवा बना हुआ है।
बीते कल से उत्तराखण्ड के आसमान पर छाई धुंध और धूल इतनी ज्यादा मात्र में है कि लोगों को सांस लेने में भी मुश्किल हो रही है। वहीं विजिविलिटी बेहद कम हो जाने से वाहनों के संचालन में भी भारी दिक्कतें हो रही हैं। दमघोटू इस माहौल में उन लोगों को जिन्हें दमा जैसी बीमारियां हैं को ज्यादा दिक्कत हो रही है। आंखों और त्वचा के रोगों से पीडि़त लोग भी इस वतावरण से परेशान हैं। लोगों में हार्डअटैक की संभावनाएं बढ़ गई हैं। डाक्टरों की सलाह है कि जब तक यह धूल और धुंध साफ नहीं होती तब तक उन्हें विशेष एहतियात बरतने की जरूरत है। उमस भरी गर्मी के कारण डायरिया के मरीजों में वृद्धि हो रही है।
मौसम विभाग का कहना है कि अगले 48 घंटों में उत्तराखण्ड हरिद्वार, नैनीताल और पौड़ी जनपद में तेज धूलभरी आंधी चल सकती है तथा आंधी के साथ हल्की बारिश भी होने की संभावना है। मौसम विभाग के निदेशक डा- विक्रम सिंह का कहना है कि जब तक प्रदेश में हल्की फुल्की बारिश नहीं होगी तब तक इस धुंध और धूल से निजात मिलना मुश्किल है। मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि अगले 48 घंटे में 80 से 100 किमी की रफ्रतार से हवाएं चल सकती हैं जिससे सावधान रहने की जरूरत है। प्रदेश में अगले कुछ दिनों तक उमस भरी गर्मी बनी रहेगी।

LEAVE A REPLY