एटीएम से लाखों की ठगी करने वाले 3 की पहचान

0
99

अपराध संवाददाता
देहरादून। राजधानी में कई उपभोक्ताओं के एटीएम कार्ड का क्लोन बनाकर की गयी लाखों रूपये की साइबर ठगी का खुलासा करते हुए पुलिस ने तीन साइबर अपराधियों की पहचान कर ली है। पुलिस ने पीड़ितों के खातों से निकाली गयी समस्त धनराशी भी बरामद करने का दावा किया है। जबकि आरोपियों की गिरफ्रतारी हेतू विभिन्न राज्यों में टीमें रवाना कर दी गयी है।
आज अपने कार्यालय में पत्रकारों को इस साइबर ठगी के खुलासे की जानकारी देते हुए अपर पुलिस महानिदेशक अपराध एंव कानून व्यवस्था राम सिंह मीणा ने बताया कि इस साइबर अपराध में बदमाशों ने को पीड़ितों के 30,00,000/- (तीस लाऽ रुपये) निकाल कर सनसनी फैला दी थी। उत्तफ़ घटना की गम्भीरता के दृष्टिगत उसके खुलासे हेतू देहरादून पुलिस एवं एस0टी0एफ0 की टीम का गठन किया गया।
गठित टीम द्वारा तत्काल कार्यवाही करते हुये पीड़ित व्यत्तिफ़यों के ऽातों से हुये ट्रांजक्शन के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की गई तथा उन ए0टी0एम0 को चिन्हित किया गया है जहां पर क्लोंनिग की घटना घटित हुई है। जांच के दौरान प्रकाश में आया कि अभियुक्तों द्वारा चिन्हित किये गये ए0टी0एम0 में स्कीमर डिवाईस लगाकर ऽाताधारकों का सम्पूर्ण डाटा प्राप्त किया गया तथा प्राप्त डाटा के अनुसार अभियुत्तफ़ों द्वारा ऽाताधारकों की ए0टी0एम0 क्लोंनिंग कर जयपुर के विभिन्न ए0टी0एम0 से पीड़ितों की धनराशि निकाली गई है, जिस पर तत्काल कार्यवाही करते हुये साक्ष्य प्राप्त करने हेतु एक टीम को जयपुर भेजा गया।
गठित टीम द्वारा प्राप्त सी0सी0टी0वी0 फुटेज का अवलोकन करने पर प्रकाश में आया कि अपराधियों द्वारा 1 जुलाई से 8 जुलाई तक ए0टी0एम0 क्लोनिंग की घटना की गई थी। पुलिस को कुछ होटल व धर्मशालाओं से कुछ संदिग्ध लोगों के रूकने की जानकारी भी प्राप्त हुई है। जिनका सीसीटीवी मिलान कर उनके मोबाइल नम्बर प्राप्त किये गये। जिस आधार पर उनकी लोकेशन झझर, रोहतक व हरियाणा के अन्य जनपदों व आस-पास के क्षेत्रें मे पाई गई। एस0टी0एफ0 व पुलिस टीम को दबिश के दौरान एक संगठित गिरोह द्वारा उत्तफ़ घटना कारित करना प्रकाश में आया जिनके नाम रामबीर, सुदेश व जगमोहन निवासी झझर, हरियाणा है। जिनकी तलाश में पुलिस टीमें अलग-अलग राज्यों में छापेमारी में जुटी हुई है।
आरोपियों के खातों से पीड़ितों की निकाली गई समस्त धनराशि पुलिस द्वारा प्राप्त कर ली गई है। जिसे नियमानुसार सम्बन्धित को वापस किया जायेगा। उपरोत्तफ़ अभियुत्तफ़ों की तलाश में पुलिस टीमों द्वारा विभिन्न स्थानों में दबिश दी जा रही है। उपरोत्तफ़ के अतिरित्तफ़ घटना में एक महिला का सम्मिलित होना भी प्रकाश में आया है, जिसकी भुमिका की जांच की जा रही है।

LEAVE A REPLY