कर्ज माफ़ी को कांग्रेस छेड़ेगी जान आंदोलन

0
116

हमारे संवाददाता
देहरादून। किसानों की आर्थिक बदहाली और आत्महत्याओं के मुद्दे पर सरकार की संवेदनहीनता और सूबे में मोबाइल वैन से शराब की बिक्री को लेकर कांग्रेस नेताओं में आक्रोश है।

किसानों की समस्याओं और कर्ज माफी को लेकर कांग्रेस आगामी 6 जुलाई से आंदोलन शुरू करेगी। नेता विपक्ष इंदिरा हृदयेश का कहना है कि इससे पहले ऐसा कभी नहीं हुआ जब प्रदेश का कोई किसान कर्ज के कारण आत्महत्या पर विवश हुआ हो उनका कहना है कि एक तरफ भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में किसानों के कल्याण के बड़े बड़े दावे किये है वहीँ अब कर्ज से परेशान किसानों की आत्महत्याओं पर सरकार चुप्पी साधे हुए है।

उन्होने कहा कि जब दूसरे प्रदेशों में किसानों का कर्ज माफ किया जा सकता है तो उत्तराखण्ड में क्यों नहीं। उन्होने इस बात पर हैरानी जताई कि आत्महत्या करने वाले किसानों का कर्ज माफ करने की बजाय और पीड़ितों की मदद की बजाय सरकार उनके कर्ज का ब्याज माफ करने की बात कर रही है इससे उन्हे भला क्या राहत मिल पायेगी। उन्हे तीन साल में कर्ज लौटाने को कहा जा रहा है।

उन्होने कहा कि कांग्रेस 6 जुलाई से सभी मुख्यालयों व तहसीलो पर धरने प्रदर्शन शुरू करेगी ओैर उनका यह विरोध् प्रदर्शन का यह आंदोलन तब तक जारी रहेगा जब तक सरकार किसानों का कर्ज माफ नहीं करती है। उन्होने कहा कि कांग्रेस शासन काल में शराब नीति को लेकर हल्ला करने वाली भाजपा अब सूबे के लोगों को किस किस किस्म की शराब परोस रही है और शराब की कितनी कीमत वसूली जा रही है।

सूबे की महिलाएं महीनों से शराब बंदी को लेकर आंदोलन कर रही है और प्रशासन व पुलिस उनके साथ बदसलूकी पर अमादा है। उन्होने कहा कि आज उत्तराखण्ड में मोबाइल वैन से घर घर तक शराब पहुंचायी जा रही है। कांग्रेस भाजपा के इस दोहरे चेहरे को जनता के सामने उजागर करेगी।

LEAVE A REPLY