‘गुमला’ में हुआ था राम भक्त हनुमान का जन्म!

0
114

गुमला(झारखंड)। एक प्राचीन मान्यता के अनुसार भगवान हनुमान का जन्म झारखंड के गुमला में हुआ था। यहां एक गुफा को उनका जन्म स्थल माना जाता है। मंगलवार को ११ अप्रैल को हनुमान जंयती है। इस मौके पर हनुमानजी की जन्मस्थल के बारे में बता रहे हैं। दावा किया जाता है कि यहां दुनिया की एकमात्र ऐसी अकेली मूर्ति है जिसमें माता अंजनी हनुमान जी को गोद में लिए हुए हैं।

बता दें की झारखंड के गुमला में एक गांव है अंजनी। ये शहर से २० से २२ किमी दूर जंगलों के बीच है। इस गांव में एक गुफा है जिसे अंजनीधाम के नाम से जाना जाता है। लोगों का मानना है कि इसी गुफा में भगवान हनुमान का जन्म हुआ था। कहते हैं कि गुफा के दरवाजे को हनुमान जी की माता अंजनी ने बंद कर दिया था। वे स्थानीय लोगों द्वारा यहां दी गई एक बलि से नाराज थीं। गुफा के ऊपर कुछ दूरी पर लोगों ने माता अंजनी और हनुमान की एक मंदिर बनाया है। अंजनीधाम के नाम से जाने जाने वाले मंदिर की स्थापना भगवान हनुमान भक्तों ने साल १९५३ में की थी।

मंदिर में भगवान हनुमान और माता अंजनी का मूर्ति है। यहां भगवान हनुमान अपनी माता की गोद में दिखाई देते हैं। अंजनीधाम से जुड़ी और भी पौराणिक गाथाएं हैं। गुफा के पास ही खटवा नदी है। कहा जाता है कि इस नदी में मां अंजनी रोज स्नान करतीं थीं। स्नान के बाद वो यहां विराजमान ३६० शिवलिंग में से एक की रोज पूजा करती थीं। माता अंजनी के मंदिर के नीचे एक प्राचीन गुफा है, जिसे सर्प गुफा कहा जाता है।

LEAVE A REPLY