कांग्रेस छोटा न करे दिल, उनका भी है योगदान: चमोली

0
96

मुख्य संवाददाता
देहरादून। उत्तराखंड की सरकार ने आखिर स्मार्टसिंटी में आकर दिखा ही दिया । इस बार उसका नाम सूची में 16वें स्थान पर है। नगर प्रमुख तथा विधायक विनोद चमोली ने ट्रिपल इंजन सरकार का प्रतिफल बताया है।

उन्होने अपने कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि पिछली बार भी शहर दशमलव पांच प्रतिशत से रह गया था और यदि तत्कालीन मुख्यमंत्री हरीश रावत उनके सुझाव के अनुरूप अपने एक्ट्रा एफर्ट डालते तो हो सकता है कि पिछली बार ही यह काम हो जाता जैसे कि इस बार मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक तथा खुद उन्होने किया ।

पहले के प्रस्ताव की कमियों के सुधार के आईआईटी रूडकी,खडकपुर व कानपुर के विशेषज्ञों की सेवायें लेकर इसे प्रजेंटेबल बनाया गया। कांग्रेस के इसमें पक्षपात के आरोप पर चमोली का कहना था कि कांग्रेस इस उपलब्धि अपने योगदान को चिन्हित कर प्रसन्न हो क्योकि वे भी उसी शहर के हैं। मूल प्रस्ताव तो उस समय की सरकार का ही था ।

चमोली ने बताया कि प्रकल्प 2022 तक पूरा होना है और इसमें 500-500 करोड रूपये केंद्र और राज्य सरकार देगी

LEAVE A REPLY