राजधानी के कई क्षेत्रों में खुलेआम चल रहा है नशे का कारोबार

0
97

नशे के खिलाफ अभियान का भी नहीं पड़ रहा इन कारोबारियों पर असर

अपराध् संवाददाता
देहरादून। पुलिस की लाख कोशिशों के बावजूद दून में नशे का कारोबार थमने का नाम नहीं ले रहा है। आये दिन नशा तस्करों की गिरफ्तारी के बाद भी राजधानी में नशा तस्कर खुलेआम अपने कारोबार को अंजाम दे रहे है। लगता है कि जैसे पुलिस सिर्फ खानापूर्ति के लिए ही नशे के खिलाफ अभियान चला रही है।

राजधानी में नशे के कारोबार का आलम यह है कि सुबह से लेकर देर रात तक मलिन बस्तियों व शहर के अन्य इलाकों में नशा खुले आम बेचा जाता है। कहने को तो पुलिस तकरीबन हर रोज नशा तस्करों को दबोच कर उनसे चरस, स्मैक व अवैध् शराब बरामद करती है लेकिन सोचनीय बात यह है कि जब पुलिस इस कारोबार को खत्म करने के पूरे प्रयास कर रही है तो फिर राजधानी में नशा कौन लोग उपलब्ध् करा रहे है। क्या यह पुलिस की जानकारी में नहीं है?

सूत्रों का दावा है कि राजधानी के कई क्षेत्रों में नशे के कुछ ऐसे कारोबारी सक्रिय है जिन पर या तो पुलिस की नजरें नहीं पड़ी है या फिर वह कारोबारी क्षेत्राीय थाना पुलिस से मिली भगत कर अपना कारोबार चला रहे है। बहरहाल नशे का यह कारोबार जगह-जगह खुलेआम चल रहा है। जिसे पुलिस रोकने में नाकाम साबित हो रही है।

नाम न छापने की शर्त पर कुछ लोगों ने बताया कि राजधानी के शहर कोतवाली क्षेत्र में मद्रासी कालोनी, कांवली रोड की मलिन बस्तियां, बिन्दाल बस्ती, डालनवाला कोतवाली क्षेत्रा के डीएल रोड, करनपुर, रिस्पना नदी की मलिन बस्तियों, रायपुर थाना क्षेत्र के जैन प्लाट, वाणी विहार, व भगत सिंह कालोनी में नशे का यह अवैध् कारोबार खुलेआम चलाया जा रहा है।

देखना होगा कि पुलिस सिर्फ कागजी खानापूर्ति में नशे के खिलाफ अभियान चला रही है या फिर वह वाकई इस कारोबार को समाप्त करने के प्रयासों में जुटी है।

LEAVE A REPLY