कांग्रेस का भ्रष्टाचार पर हल्ला बोल

0
127

एन एच 74 घोटाले की हो सीबीआई जांच

 

नगर संवाददाता
देहरादून। उत्तराखण्ड विधानसभा चुनाव में मिली करारी शिकस्त के बाद अब कांग्रेस नेताओं ने सूबे की भाजपा सरकार की भ्रष्टाचार के मुद्दे पर घेराबंदी शुरू कर दी है। एन एच 74 निर्माण में हुए बड़े घोटाले की सीबीआई जांच से पीछे हटती दिख रही त्रिवेन्द्र सरकार के खिलाफ आज कांग्रेसी नेताओं ने सड़कों पर हल्ला बोलते हुए पूरे प्रदेश में पुतले फूंके व राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन दिया। प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह का कहना है कि कांग्रेस किसी भी कीमत पर सरकार को इस मामले में लीपा पोती नहीं करने देगी।

प्रदेश भर में प्रदर्शन, राष्ट्रपति को ज्ञापन

प्रदर्शनकारियों का कहना था कि भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस का वादा करने वाली उत्तराखण्ड सरकार द्वारा एनएच 74 घोटाले की जांच सीबीआई से कराने के लिए केन्द्र सरकार को सिफारिश भेजी गयी लेकिन अभी तक केन्द्र सरकार से मामले की सीबीआई जांच की अनुमति नहीं मिल पाई।

लोकतंत्र के इतिहास में यह पहली बार है कि जब प्रदेश सरकार द्वारा सीबीआई जांच के अनुरोध के बावजूद संबंधित विभाग के केन्द्रीय मंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेता द्वारा यह कहते हुए कि सीबीआई जांच से अधिकारियों के मनोबल पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा, मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर अपना फैसला वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा है। इससे ऐसा प्रतीत होता है कि केन्द्र सरकार एनएच 74 घोटाले के दोषियों को बचाने का काम कर रही है।

उनका कहना था कि एनएच 74 में हुए घोटाले की जांच के लिए तत्कालीन कांग्रेस सरकार द्वारा मामले के संज्ञान में आते ही एसआईटी का गठन कर निष्पक्ष जांच कराने का फैसला लिया गया था तथा संबंधित जांच एजेंसी ने इस दिशा में काम करना शुरू भी कर दिया था लेकिन भाजपा सरकार द्वारा इस मामले को जनता के संज्ञान में लाने वाले अधिकारी का तबादला कर इस मामले में लीपापोती करने का प्रयास किया जा रहा है।

इससे यह भी साबित होता है कि सरकार एनएच 74 में हुए घोटाले में संलिप्तों को बचाना चाहती है। इसीलिए केन्द्र सरकार को भी यह स्पष्ट करना चाहिए कि ऐसा कौन सा दबाव है जिसके चलते वह मामले की सीबीआई जांच कराने से कतरा रही है। उनका कहना था कि जनता को अच्छे दिनों का झांसा देने वाली केन्द्र सरकार द्वारा पहले ही उत्तराखण्ड के साथ सौतेल व्यवहार किया जा रहा था।

अब राज्य में भाजपा की प्रचण्ड बहुमत वाली सरकार ने बिजली, पानी, सीवर के दाम बढ़ा कर पहले से ही महंगाई की मार झेल रही जनता की जेब पर डाका डालने का काम किया है। सस्ते गल्ले में मिलने वाले गेहूं एवं चावल के दामों के दोगुनी वृद्धि कर दी गयी है।

केन्द्र सरकार द्वारा चीनी और मिट्टी के तेलपर मिलने वाली सब्सिडी को भी बंद कर दिया गया है। वर्तमान शराब नीति के कारण सम्पूर्ण प्रदेश की मातृशक्ति सड़कों पर हैं। उन्होंने केन्द्र सरकार से इन मामलों में प्रदेश सरकार को निर्देशित कर उचित कार्यवाही की मांग की है।

प्रदर्शन करने वालों में यामीन अंसारी, जयेन्द्र रमोला, पृथ्वीराज चौहान, संजय भट्ट विजय सारस्वत, मेाहन काला, गरिमा मेहरा दसौनी आदि शामिल थे।

LEAVE A REPLY