प्रियंका दादा साहेब फाल्के अकैडमी अवॉर्ड से होंगी सम्मानित

0
104

हॉलिवुड फिल्म बेवॉच में विक्टोरिया लीड्स का निगेटिव किरदार निभाने वालीं प्रियंका चोपड़ा के परफॉर्मेंस को खूब सराहा जा रहा है। विदेशों में मिली रही प्रशंसा के साथ-साथ प्रियंका को भारतीय सिनेमा में उनके अभिन्न योगदान के लिए दादा साहेब फाल्के अकैडमी अवॉर्ड से नवाजे जाने की तैयारी चल रही है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति बटोर चुकीं प्रियंका के लिए इस अवॉर्ड को ध्यान में रखते हुए एक नई कैटिगरी तैयार की गई है।

दादा साहेब फाल्के अकैडमी अवॉर्ड कमिटी के चेयरमैन अशोक शेखर ने इस खबर को कन्फर्म करते हुए कहा, हां, हम इस बार अवॉर्ड लिस्ट में एक नई कैटिगरी लेकर आ रहे हैं और यह है इंटरनैशनल स्तर पर अपनी अच्छी पहचान बना चुकीं ऐक्ट्रेस की कैटिगरी। इसमें कोई दो राय नहीं कि प्रियंका चोपड़ा एक इकलौती ऐसी ऐक्ट्रेस हैं, जो वाकई में यह अवॉर्ड डिज़र्व करती हैं।

अशोक शेखर ने यह भी कहा, अपनी मेहनत और ईमानदारी भरी कोशिशों के बल पर प्रियंका ने भारतीय इंडस्ट्री को अंतरराष्ट्रीय मंच पर दमदार तरीके से पेश किया है। इसी वजह से इस अवॉर्ड के आयोजकों को इस लिस्ट में एक नए कैटिगरी को जोडऩा पड़ा। प्रियंका चोपड़ा के साथ उनकी मां मधु चोपड़ा को भी दादा साहेब फाल्के अकैडमी अवॉर्ड के दौरान सम्मानित किया जाएगा। यह सम्मान उन्हें उनकी मराठी बॉक्स ऑफिस हिट फिल्म वेंटिलेटर के लिए दिया जाएगा, जिसे उन्होंने प्रड्यूस किया था।

गौरतलब है कि दादा साहेब अकैडमी अवॉर्ड, दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से अलग है। दादा साहेब फाल्के अकैडमी अवॉर्ड हिन्दी और रीजऩल सिनेमा के क्षेत्र में अभिन्न योगदान के लिए दिया जाता है। यह सम्मान साल 2००० से फिल्मों से जुड़े मेकअप आर्टिस्ट से लेकर स्पॉट बॉय तक के 22 अलग-अलग क्षेत्र में योगदान के लिए दिया जाता है।

दादा साहेब फाल्के पुरस्कार, भारत सरकार की ओर से दिया जाने वाला सर्वोच्च वार्षिक पुरस्कार है, जिसके अंतर्गत किसी व्यक्ति विशेष को भारतीय सिनेमा में उसके आजीवन योगदान के लिए दिया जाता है। इस अवॉर्ड की शुरुआत 1969 से हुई है। (आरएनएस)

LEAVE A REPLY