डेढ़ किलो सोने के साथ 3 शातिर ठग गिरफ्तार

0
133

अपराध् संवाददाता
देहरादून। नेहरूकालोनी क्षेत्र के एक सुनार से बीते माह तीन किलो सोना ठगने के आरोपियों को पुलिस ने कड़ी मश्क्कत के बाद देर रात गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी शातिर किस्म के ठग हैं जिन पर अन्य राज्यों में भी कई मुकदमे कायम है।

आज अपने कार्यालय में पत्रकारों को इस बात की जानकारी देते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक निवेदिता कुकरेती ने बताया कि बीते माह की 26 तारीख को बैंक कालोनी केदारपुर निवासी सचिन रस्तोगी पुत्र स्व. प्रवेश रस्तोगी ने थाना नेहरूकालोनी को तहरीर देते हुए बताया कि कुछ लोगों द्वारा ठगी कर मुझसे तीन किलो सोना ठग लिया गया है। जिनके बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं है।

उन्होने बताया कि मध्यस्त मंजीत सिंह निवासी मिस्सरवाला के द्वारा मैं उन लोगों के सम्पर्क में आया था। उन्होने बताया कि मेरे परिचित अरूण सैनी जो कि मंजीत सिंह के भी मित्रा है ने मुझसे कहा कि आप 5 किलो सोने की व्यवस्था करवा दीजिये। मेरे द्वारा तीन किलो सोने की व्यवस्था करवाये जाने पर कुछ लोग अजबपुर चौक पर स्वीफ्ट कार से आये और उन्होने बताया कि हमारे पास इस बैग में डेढ़ करोड़ रूपये है आप हमें सोना दे दें।

जिसके बाद मैने अपने मित्रों अरूण सैनी, मंजीत व अभिषेक जैन के सामने कार सवार लोगों को सोना दे दिया। उन्होंने बताया कि जब हमने अपनी दुकान में आकर बैग खोला तो उपर एक एक नोट दो हजार के लगे थे जबकि नीचे सफेद कागज की गड्डी व रजिस्टर थे। जिसके बाद ठगी का अहसास होने पर उन्होने थाने आकर तहरीर दे दी।

अपराध् की गम्भीरता को देखते हुए पुलिस ने त्वरित मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी। कई दिनों की जांच के बाद कल सोमवार को जांच में जुटी पुलिस टीम को सूचना मिली कि कुरूक्षेत्र में उक्त ठगी के आरोपी देखे गये है। जो किसी अन्य वारदात को अंजाम देने की फ़िराक़ में है।

सूचना पर पुलिस ने कार्यवाही करते हुए कुरूक्षेत्र से घटना में शामिल तीनों आरोपियों को वारदात में प्रयुक्त स्वीफ्ट कार के साथ दबोच लिया। जिनके कब्जे से पुलिस ने एक किलो छह सौ ग्राम सोना नकली नोट नुमा 16 बन्डल व 12 रजिस्टर बरामद किये।

पुलिस द्वारा की गयी पूछताछ में उन्होने अपना नाम गुरदीप सिंह, साहब सिंह निवासी कुरूक्षेत्र हरियाणा व गुरजन्ट सिंह निवासी पटियाला पंजाब बताया। पुलिस के अनुसार तीनो शातिर किस्म के अपराधी है जिनके खिलाफ पंजाब व हरियाणा में भी कई मुकदमें दर्ज है।

LEAVE A REPLY