कॉलोनी में नाली न होने से सड़कें बन रही तालाब

0
6

सीएम के विस क्षेत्र की समस्याओं को दरकिनार कर रहा लोनिवि

नगर संवाददाता
देहरादून। सड़क के किनारे नालियां न बनी होने के कारण जरा सी बारिश में ही सड़कें लबालब हो जाती हैं और लोगों के घरों में भी पानी घुस जाता है। यह हाल है मुख्यमंत्राी की विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले वैभव विहार का। क्षेत्र के लोगों ने मुख्यमंत्री कार्यालय तक अपनी समस्या पहुंचायी। जिस पर सीएम के विशेष कार्याधिकारी ने लोनिवि को पत्रा लिख कर शीघ्र समस्या का निवावरण करने को निर्देशित किया था लेकिन विभागीय अधिकारियों ने तो उनके आदेश को ही ठेंगा दिया है। गुरूवार की बारिश से भी वैभव विहार तालाब में तब्दील हो गया। बरसात में ऐसे हालात की कल्पना से ही वैभव विहार के लोग सिहर रहे हैं।

डोईवाला विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत नवादा में वैभव विहार कॉलोनी है। इस कॉलोनी में घरों के बाहर और सड़कों के किनारे नाली का निर्माण न होेने के कारण यहां के लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यहां पर हालात यह हैं कि थोड़ी सी बारिश होने पर सड़कें कीचड़ और पानी से लबालब हो जाती हैं। जिस कारण पैदल चलने वाले लोगों को तो परेशानी होती ही है। जिन लोगों के घर सड़क से ढलान या नीचे की ओर बने हुए हैं उनके घरों में भी सड़क का पानी और कीचड़ घुस जाता है।

सड़क में पानी भरा होने के कारण यहां पर गढ्ढों का पता नहीं चल पाता है और कई बार लोग इसकी वजह से दुर्घटना का शिकार हो जाते हैं। वैभव विहार के लोगों ने देवभूमि जनसेवा समिति हेल्पलाईन नंबर पर अपनी समस्या दर्ज करवायी थी जिसके बाद समिति के अध्यक्ष राजेन्द्र सिंह नेगी ने क्षेत्रवासी यशवीर, हर्ष झब्बल, राजकुमार, बचन सिंह बिष्ट, रूप राम चमोली, रविन्द्र सिंह बिष्ट, वीरेन्द्र रावत, अमर सिंह, सुमन नेगी, उर्मिला रानी आदि ने मुख्यमंत्राी को पत्रा लिखा था।

मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र का मामला होने के कारण उनके ओएसडी धीरेन्द्र पंवार ने इस पत्र का तत्काल संज्ञान लेते हुए लोक निर्माण विभाग के सचिव को मौके पर जा कर मुआयना करने और लोगों की समस्याओं का तत्काल निवारण करने के निर्देश दिये। इस संबंध में उन्होंने एक पत्रा भी लिखा था। जिसके बाद क्षेत्रा के लोगों को उम्मीद थी कि अब उनकी समस्या का निस्तारण हो जायेगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

लोनिवि के अधिकारियों ने ओएसडी के निर्देशों को ही हवा में उड़ा दिया। 25 अप्रैल 2017 को लिखे गये पत्र पर अब तक विभागीय अधिकारियों ने कोई कार्यवाही करना तो दूर मौके पर जाने की जहमत तक नहीं उठायी गयी है। इससे यह तो स्पष्ट हो ही गया है कि अधिकारियों में मनमानी करने की जो कार्यशैली पनप रखी है उससे वे बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। जिसके कारण वे सीएम कार्यालय के आदेशों को भी ठेंगा दिखा रहे हैं। उनकी इस लापरवाही का खामियाजा यहां की जनता को भुगतना पड़ रहा है। गुरूवार को हुई बारिश से वैभव विहार की सड़कें तालाब बन गयी थी और घरों में भी पानी घुस गया था जिसकी वजह से लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ी थी। यदि यहां सड़क के किनारे अब भी नाली का निर्माण नहीं कराय जाता है तो बरसात के समय यहां के लोगों को अपने घरों में ही कैद हो कर रहना पड़ सकता है।

LEAVE A REPLY