चीनी कंपनियों को प्रतिबंधित करने की मांग

0
87

नगर संवाददाता
देहरादून। स्वदेशी जागरण मंच ने विदेशी वस्तुओं के बहिष्कार की मांग को लेकर आज जिला मुख्यालय में प्रदर्शन किया। मंच द्वारा प्रधानमंत्री को ज्ञापन भी प्रेषित किया गया।

मचं के कार्यकर्ताओं का कहना था कि स्वदेशी जागरण मंच विगत तीन माह से राष्ट्रीय स्वदेशी सुरक्षा अभियान के तहत हस्ताक्षर अभियान चला रहा है। जिसमें पूरे प्रदेश से लगभग सात लाख हस्ताक्षर कराये जा चुके हैं। मंच ने दस लाख हस्ताक्षर कराने का लक्ष्य रखा है। देहरादून में ही अब तक एक लाख साठ हजार हस्ताक्षर करवाये जा चुके हैं।

उनका कहना था कि पिछले वर्ष दीवाली के अवसर पर उनके अभियान के चलते चीनी उत्पादों की बिक्री में 30 से 50 फीसदी की कमी आयी। उन्होंने प्रधानमंत्री से मांग की है कि ऐसी नीतियां बनायी जायें जिससे कि स्वदेशी वस्तुएं अधिक से अधिक चलन आये और देश की आर्थिक व्यवस्था भी मजबूत हो सके। सरकार मानक बना कर चीन के घटिया माल को प्रतिबंधित करे। चीन से किसी भी प्रकार का नया व्यापार समझौता न किया जाये।

उनका कहना था कि चीन एक देश के लिए मुश्किलें बढ़ा रहा है वहीं केन्द्र और राज्य सरकारें चीनी कंपनियों के साथ कई प्रकार के निवेश समझौते कर रही है। इस प्रवृत्ति पर रोक लगनी चाहिए और चीन से किसी भी प्रकार का निवेश समझौता नहीं करना चाहिए। चीनी कंपनियों को भारत में टेंडर डालने के लिए भी प्रतिबंधित किया जाना चाहिए।

ज्ञापन देने वालों में अरविंद पंत, विनोद बिष्ट, अमन, धमेन्द्र चौहान, आधार वर्मा, लोकेन्द्र, प्रिंस यादव, तिलक राज गुप्ता, चन्द्रमोहन, )षभ रावत तथा दिनेश नेगी आदि शामिल थे।

LEAVE A REPLY