घंटाघर की घड़ियां ठीक करायी जायेः मुकेश

0
99

नगर संवाददाता
देहरादून। नेताजी संघर्ष समिति ने शहरी विकास मंत्री से मांग की है कि लम्बे समय से घंटाघर की बंद पड़ी घड़ियों को ठीक कराया जाये।

नेताजी संघर्ष समिति के संस्थापक मुकेश गुप्ता व वरिष्ठ उपाध्याक्ष प्रभात डंडरियाल का कहना है कि शहर से अतिक्रमण हटाने और व्यवस्थाओं को पटरी पर लाने के लिए शहरी विकास मंत्री ने कई निर्देश जारी किये हैं लेकिन घंटाघर की घड़ियों की ओर किसी ने ध्यान नहीं दिया। लम्बे समय से बंद पड़ी इन घड़ियों को ठीक कराया जाये। यदि ये घड़ियां ठीक नहीं करवायी जा सकती हैं तो इन्हें घंटाघर से हटाया जाये।

उनका कहना था कि दून का हृदय स्थल कहे जाने वाले घंटाघर की हालत बेहद खराब है। सरकार शहर के सौंदर्यीकरण की बात कर रही है जबकि दून का दिल ही साफ-सुथरा नहीं है। इतने समय से बंद पड़ी घड़ियों के बारे में कई बार शिकायत की जा चुकी है लेकिन इसे ठीक करने की जहमत अभी तक नहीं उठायी गयी है। उन्होंने इन घड़ियों को शीघ्र ठीक कराने की मांग की है।

विदित हो कि रविवार को शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने आईएसबीटी से घंटाघर तक निरीक्षण किया था। इस दौरान उन्होंने अतिक्रमण हटाने के लिए अधिकारियों को निर्देशित भी किया। आईएसबीटी से चला मंत्री का काफिला घंटाघर पर आ कर रूका लेकिन इस दौरान किसी ने भी घंटाघर की बदहाली की तरफ ध्यान नहीं दिया।

अधिकारियों के इस काफिले को उस समय घंटाघर की घड़ियां नहीं दिखाई दी। इन घड़ियों को बंद पड़े लगभग सालभर होने जा रहा है लेकिन अब तक न तो घड़ियां ठीक हुई हैं और न ही घंटाघर के पार्क की दशा में कोई सुधार हुआ है। यहां पर सफाई तो महीने में कभी-कभार ही होती है। फिर भी शहर के सौंदर्यीकरण की बात की जा रही है तो इसकी शुरूआत घंटाघर से ही होनी चाहिए।

LEAVE A REPLY