जल संस्थान कर्मियों को दिया जाय सातवां वेतन

0
141

रुद्रप्रयाग। पेयजल तकनीकी फील्ड कर्मचारी संगठन की बैठक सूरत सिंह झिंक्वाण की अध्यक्षता में आहूत की गई, जिसमें कर्मचारियों की विभिन्न समस्याओं पर विचार-विमर्श किया गया।

बैठक में कहा गया कि जल संस्थान कर्मचारियों को राजकीय कर्मचारियों की भांति सातवां वेतनमान शीइा्र लागू किया जाय। साथ ही जल निगम से आ रहे कर्मचारियों को तब तक विभाग में समायोजित न किया जाय, जब तक विभाग का राजकीयकरण न हो। संगठन द्वारा राजकीयकरण की मांग को बार-बार शासन को प्रेषित करने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। इसके अलावा समूह घ की सूची में पदोन्नति से छूटे हुए कार्मिकों को शीइा्र समूह ग में पदोन्नति दी जाय।

बैठक में शाखा अध्यक्ष राजेन्द्र सिंह सिंधवाल एवं सचिव कुलदीप सिंह चौहान ने कहा कि अगस्त्यमुनि में आरबीएफ में कार्यरत कर्मचारियों को रहने के लिए कमरे की व्यवस्था नहीं है। इस संबंध में पूर्व में अधिशासी अभियंता को भी पत्र दिया गया, बावजूद इसके कोई व्यवस्था नहीं की गई है। पीटीसी को श्रमिक एक्ट के तहत मानदेय दिया जाना चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं किया जा रहा है।
कहा कि समय से पदोन्नति न होने से कर्मचारियों में आक्रोश बना हुआ है। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि विभाग में लेखा संवर्ग एवं सामान्य वर्ग का ग्रेड पे स्केल सामान किया जाय और सभी संवर्गों की वेतन विसंगतियां दूर की जायं।

कर एवं राजस्व निरीक्षक पदो के कर्मिकों का ग्रेड-पे बढ़ाया जाना चाहिए और फिटर संवर्ग की ज्येष्ठता सूची उपलब्ध कराई जाय। सेवानिवृत्त होने पर पेंशन के लिए संबंधित कर्मचारी से खाता संख्या लिया जाय और देहरादून की बाध्यता को खत्म किया जाय। इस दौरान कर्मचारियों को पुरानी पेंशन लागू किये जाने की मांग भी गई।

बैठक में मातबर सिंह कंडारी, विक्रम सिंह राणा, जयवीर सिंह नेगी, वृजमोहन भारद्वाज, महावीर राणा, रामपाल कंडारी, महावीर सिंह रावत, सुंदर सिंह रौथाण सहित कईं मौजूद थे।(आरएनएस)

LEAVE A REPLY