कानपुर रेल हादसे में 100 से अधिक की मौत

राष्ट्रपति ,PM मोदी ने रेल दुर्घटना पर शोक व्यक्त किया

1
117
कानपुर रेल हादसे में 100 से अधिक की मौत
कानपुर रेल हादसे में 100 से अधिक की मौत

कानपुर: उत्तर प्रदेश में कानपुर के पास पुखरायां में रविवार सुबह इंदौर से पटना जा रही इंदौर-राजेन्द्र नगर एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हो गई. इस हादसे में मृतकों की संख्या 100 के पार चली गई है. रेलराज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने घटनास्थल पर पहुंचकर रेलवे के अधिकारियों को राहत एवं बचाव कार्य को और तेज करने का निर्देश दिया. हादसे में 150 से अधिक लोग घायल हैं, जिन्हें नजदीकी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है.

अपर पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) दलजीत चौधरी ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि इस हादसे में अब तक 100 से अधिक लोगों की मौत हो गई है. राहत कार्य में एनडीआरएफ को भी लगाया गया है. रेलवे सूत्रों के मुताबिक, रेलमंत्री सुरेश प्रभु जल्द ही घटनास्थल पर पहुंचेंगे. इस बीच गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से फोन पर बात कर पीडितों की मदद करने की बात की है.

घायलों को तत्काल दी जाए हरसंभव सुविधा

रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा भी घटनास्थल पर पहुंच चुके हैं. उन्होंने अधिकारियों को सख्त दिशानिर्देश देते हुए कहा है कि राहत और बचावकार्य को और तेज किया जाए. घायलों को तत्काल हरसंभव सुविधा दी जाए और लोगों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने की व्यवस्था की जाए. सिन्हा ने कहा कि पहली जिम्मेदारी है कि घायलों को अच्छा इलाज मुहैया कराया जाए ताकि उन्हें राहत मिल सके. उन्होंने कहा कि इस हादसे की निष्पक्षता से जांच कराई जाएगी. लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने भी फोन कर हादसे की जानकारी ली है.

मनोज सिन्हा ने बताया कि मृतकों और घायलों के परिजनों की सुविधा के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं. सभी वरिष्ठ अधिकारियों को दुर्घटनास्थल पर अतिशीघ्र हरसंभव सुविधा उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है. उन्होंने दुर्घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के प्रति कठोरतम कार्रवाई की बात भी कही.

रेलवे सूत्रों के मुताबिक, अभी भी कई यात्री डिब्बों में फंसे हुए हैं. हादसे की भयावहता को देखते हुए मरने वालों की संख्या में बढ़ोतरी की आशंका है. इस हादसे में घायल हुए लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. इनमें से कई घायलों की हालत बेहद गंभीर और नाजुक बताई गई है.

यात्रियों की मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर

यात्रियों की मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए गए हैं. हालांकि, इन नंबरों पर संपर्क नहीं हो पा रहा है. झांसी का हेल्पलाइन नंबर 0510-1072 है जबकि उरई का हेल्पलाइन नंबर 0516-21072 है. कानपुर का हेल्पलाइन नंबर 0512-1072 है. इसके अतिरिक्त पुखरायां का हेल्पलाइन नंबर 05113-270239 है. कानपुर देहात जिला प्रशासन का हेल्पलाइन नंबर 0511-271050 है.

एनडीआरएफ के अधिकारी आलोक सिंह के मुताबिक, हादसे की संख्या 100 से अधिक है. यहां से लोगों को नजदीकी अस्पतालों में शिफ्ट किया जा रहा है. राहत एवं बचाव कार्य युद्धस्तर पर जारी है.

कानपुर ट्रेन हादसा: अधिकांश शव शिनाख्त से परे

एनडीआरएफ ने कहा है कि कानपुर के पास रविवार तड़के इंदौर-पटना एक्सप्रेस दुर्घटना में मारे गए अधिकतर लोगों के शव ऐसी अवस्था में हैं कि उनकी शिनाख्त करना लगभग नामुमकिन है. एनडीआरएफ के प्रवक्ता कृष्ण कुमार ने आईएएनएस को बताया, “पटना-इंदौर एक्सप्रेस के डिब्बों से बाहर निकाले गए अधिकतर शव क्षत-विक्षत हो गए हैं. उनकी पहचान मुमकिन नहीं है.”

कुमार ने कहा, “बचाव कार्यो के लिए एनडीआरएफ के पांच दलों की तैनाती की गई है. अब तक 53 यात्रियों को बचाया गया है जिनमें से 16 बुरी तरह से घायल हैं.” उन्होंने कहा कि एनडीआरएफ के बचावकर्मी अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल से डिब्बों को काटकर फंसे हुए यात्रियों को बाहर निकाल रहे हैं.

PM मोदी ने रेल दुर्घटना पर शोक व्यक्त किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कानपुर के पास पटना-इंदौर एक्सप्रेस के दुर्घटनाग्रस्त होने पर शोक प्रकट किया. मोदी ने एक ट्वीट में कहा, “त्रासदीपूर्ण रेल दुर्घटना में घायल हुए लोगों के लिए प्रार्थना कर रहा हूं. मैने (रेल मंत्री) सुरेश प्रभु से बात की है, जो खुद स्थिति पर बारीकी से नजर रखे हुए हैं.”

प्रधानमंत्री कार्यालय की और से किए गए एक अन्य ट्वीट के अनुसार, “प्रधानमंत्री ने रेल मंत्री (सुरेश प्रभु) को स्थिति पर बारीकी से नजर रखने और घटनास्थल पर तत्काल राहत और सहायता सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया है.”

रेल हादसे पर राष्ट्रपति ने दुख जताया

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने उत्तर प्रदेश के कानपुर के निकट इंदौर-पटना एक्सप्रेस हादसे में हुई मौतों पर आज संवेदना जताई. मुखर्जी ने उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक को भेजे एक संदेश में कहा, ‘‘मुझे यह जान कर दुख हुआ कि उत्तर प्रदेश के कानपुर के निकट इंदौर-पटना एक्सप्रेस के पटरी से उतरने से कई लोगों की मौत हो गई और कई अन्य लोग घायल हो गए.’’

राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘मुझे विश्वास है कि राज्य सरकार अपने अजीजों को खो चुके शोकसंतप्त परिवारों को हर संभव सहायता और घायलों को चिकित्सीय सुविधा पहुंचा रही है.’’ उन्होंने इस हादसे में जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों को अपनी संवेदना पेश की. उन्होंने कहा, ‘‘मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि उन्हें यह अपूरणीय क्षति बरदाश्त करने की ताकत और हौसला दे. मैं घायलों के तेजी से स्वस्थ होने की कामना करता हूं.’’

1 COMMENT

LEAVE A REPLY